Saturday, October 1, 2016

रिश्वत माँगने के मामले में महिला जज गिरफ्तार, अब न्याय कौन करेगा ??

🚩 रिश्वत माँगने के मामले में महिला जज गिरफ्तार ।।
🚩 क्या ऐसे #जजों से निर्दोष को न्याय मिल पायेगा ???
🚩सीबीआई ने दिल्ली #तीस_हजारी_कोर्ट में सीनियर सिविल #महिला_जज #रचना_तिवारी लखनपाल के घर पर छापेमारी की, जहाँ से उसने करीब 94 लाख रुपये #कैश, लॉकर की दो चाबियाँं, अपराध से जुड़े दस्तावेज और अन्य चीजें बरामद होने का दावा किया है ।
🚩सीबीआई ने गुरुवार सुबह #महिला जज, जज के पति आलोक लखनपाल और वकील विशाल महेन को #गिरफ्तार कर लिया ।
🚩 #सीबीआई #अदालत ने दोनों आरोपियों को दो दिन की रिमांड पर और महिला जज को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया ।
🚩शिकायत में आरोप है कि महिला जज ने अपनी कोर्ट में लगे एक सिविल केस में विवादित प्रॉपर्टी के #इंस्पेक्शन और उसकी रिपोर्ट दायर करने के लिए वकील विशाल महेन को लोकल कमिश्नर अपॉइंट किया था । उस वकील ने #शिकायतकर्ता से उसके पक्ष में फैसले के लिए 2 लाख रुपये और कथित आरोपी सीनियर सिविल जज व रेंट #कंट्रोलर रचना तिवारी लखनपाल के लिए 20 लाख रुपये की रिश्वत माँगी थी ।
🚩जिसमें #वकील लोकल #कमिश्नर के तौर पर जज की ओर से 5 लाख रुपये लेते हुए सीबीआई ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया । आरोपी वकील ने बताया कि माँगी गई रिश्वत #जज को दी जानी थी । इसके बाद वकील वह रकम जज को देने के लिए उनके आवास पर गया । इसमें से 4 लाख रुपये महिला जज ने रख लिए और एक लाख उस वकील को सौंप दिए ।  #सीबीआई ने कथित #रिश्वत के तौर पर दिए गए 5 लाख रुपये बरामद कर लिए हैं ।
🚩बताया जाता है कि जज का पति आलोक भी वकील है ।
🚩ये तो एक जज #रिश्वत लेती पकडी गई इसलिये उसको गिरफ्तार कर लिया लेकिन ऐसे मामले तो कई हैं । देश में #रिश्वतखोरी और #भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है कि अब तो लोग अपने घरों में भी #सुखी नहीं हैं ।
🚩उसकी पुष्टि पहले कई जज कर चुके है :
🚩सुप्रीम कोर्ट के पूर्व #न्यायधीश काटजू ने कहा था कि भारतीय #न्याय_प्रणाली में 50% जज भ्रष्ट है ।
🚩सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश #संतोष_हेगड़े भी सवाल उठा चुके है कि ‘धनी और प्रभावशाली’ तुरंत जमानत हासिल कर सकते हैं ।
🚩कर्नाटक हाईकोर्ट के पूर्व वरिष्ठ न्यायाधीश जस्टिस के एल #मंजूनाथ ने कहा की यहाँ #सत्यनिष्ठा और #ईमानदारी के लिए कोई स्थान नहीं है और इस देश में न्याय के लिए कोई जगह नहीं ।
🚩इसलिये आज न्याय प्रणाली से $जनता का भरोसा उठ गया है ।
🚩देश में 2.78 लाख #विचाराधीन कैदी है । इनमें से कई ऐसे हैं जो उस अपराध के लिए मुकर्रर सजा से ज्यादा समय जेलों में बिता चुके हैं ।
🚩आरोप साबित होने पर भी कई बड़ी हस्तियाँ बाहर घूम रही है और अभी तक जिन पर आरोप साबित नही हुआ है वो जेल में है । पूर्ण रूप से अब ये समझा जाता है कि मीडिया और #पॉलिटिक्स की आपस में मिलीभगत है ।
🚩 #लालू, #तरुण_तेजपाल, कन्हैया, जय ललिता, सलमान खान आदि कई है जिन पर पुख्ता सबूत है फिर भी बड़े मजे से बाहर घूम रहे हैं ।
🚩लेकिन 9 साल से #साध्वी_प्रज्ञा, 7 साल से असीमानंद, 3 साल से #संत #आसारामजी बापू, 2 साल से #धनंजय देसाई आदि बिना सबूत जेल में  है । उन पर अभी तक एक भी आरोप सिद्ध नही होते हुए भी वो आज #जेल के अंदर है ।
🚩इनका क्या अपराध है कि कोर्ट #जमानत नही दे पा रही है ???
क्या हिन्दू संत है इसलिए ???
क्या इन्होंने रिश्वत नही दी इसलिए ???
क्या इन्होंने #धर्मान्तरण पर रोक लगाई इसलिए ???
🚩जनता के मन में कई सवाल उठ रहे हैं इसलिए न्याय प्रणाली को #भ्रष्ट मुक्त होकर निर्णय लेना चाहिए जिससे निर्दोष को सजा न हो ।
🚩जय हिन्द
जय भारत🚩
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube - https://goo.gl/J1kJCp
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Attachments area
Post a Comment