Saturday, October 8, 2016

मुहर्रम को लेकर हाईकोर्ट ने प्रशासन को लगाई कड़ी फटकार !!

🚩#मुहर्रम को लेकर हाईकोर्ट ने लगाई कड़ी फटकार !!
🚩कलकत्ता  :# बंगाल के गौरव के रूप में स्थापित #माँ दुर्गा पूजा को लेकर राज्य सरकार द्वारा तुष्टिकरण की राजनीति पर करारा प्रहार करते हुए #कलकत्ता हाईकोर्ट ने सरकार को जमकर लताड़ लगायी है।
🚩#दरअसल दशमी के दिन ही मुहर्रम का त्यौहार है। इस दिन शाम को मुस्लिम समुदाय ताजिया निकालता है ।
🚩इसे देखते हुए #कलकत्ता पुलिस ने एक सर्कुलेशन जारी करते हुये कहा था कि दशमी के दिन शाम 4 बजे के बाद# मूर्ति विसर्जन नहीं किया जायेगा।
🚩#पुलिस के इस नोटिफिकेशन को चुनौती देते हुये हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल करवायी गयी थी जिसपर गुरुवार को #न्यायाधीश दीपंकर दत्ता की अदालत में सुनवायी हुई।
🚩इस दौरान #राज्य सरकार के वकील अभ्रतोष मजुमदार को फटकार लगाते हुए पूछा गया कि किस आधार पर #सरकार ने दशमी के दिन पूजा विसर्जन पर रोक लगायी है???
🚩#आखिर ताजिया को सुबह से निकालने का निर्देश क्यों नहीं दिया जाता#। मुहरर्म के कारण विसर्जन नही हो, इसका क्या मतलब है ???
🚩#न्यायाधीश के इन तीखे सवालों से निरुत्तर हुये वकील ने कहा कि सरकार के पास शांति सुनिश्‍चित करने के लिए यही विकल्प बचा है।


JAGO HINDUSTANI - मुहर्रम को लेकर हाईकोर्ट ने प्रशासन को लगाई कड़ी फटकार !!

🚩इसपर पुनः सवालों की बौछार करते हुये #न्यायाधीश ने स्पष्ट किया कि अगर सरकार लोगों के आयोजनों को सामान्य तरीके से सम्पन्न करवाने के बजाय उन पर रोक लगायेगी तो उसे सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है।
🚩#इलाहाबाद का उदाहरण देते हुये न्यायाधीश ने कहा कि भारत का #सबसे बड़ा ताजिया इलाहाबाद में निकाला जाता है। वहां दशहरे को लेकर# ताजिये को एक दिन बाद निकाला जाता है ।
🚩#बंगाल में दुर्गापूजा का इतना महत्व है फिर भी यहां #सरकार का ऐसा रवैया# चौकाने वाला है। इसके बाद न्यायाधीश ने साफ किया कि# दशमी के दिन के लिए पुलिस ने जो निर्देशिका दी है वह #मान्य नहीं होगी । इस दिन रात तक लोग आराम से #विसर्जन कर सकते हैं और पुलिस को सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करना होगा ।
🚩#हाईकोर्ट ने कहा कि सत्ता संभाल नहीं सकते तो सत्ता में रहने का अधिकार नहीं !!
🚩#सरकार को केवल #हिंदुओं के त्यौहारों पर ही हस्तक्षेप करने का क्यों सूझता है???
🚩सदियों से चले आ रहे त्यौहार, #माँ दुर्गा के पूजन में बदलाव करने की आवश्यकता क्यों लगती है ???
🚩#मुहर्रम में ताजिया खेलकर खून खराबा किया जाता है उस पर रोक लगाने की आवश्यकता नहीं लगती तो पवित्र# दुर्गा पूजा में हस्तक्षेप क्यों ???
🚩एक के बाद एक# हिन्दू त्यौहारों पर इसलिये बंधन लगाया जा रहा है क्योंकि# हिंदुओं में एकता नही है# अभी हिन्दुओं के एक होने का समय आ गया है ।
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube - https://goo.gl/J1kJCp
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Post a Comment