Friday, October 21, 2016

केरल में चिनम्याकनहागड़ ३स्कूल प्रशासन :अब स्कूल में ‘गुड मॉर्निंग’ की जगह अब ‘हरिओम’ बोलेंगे! स्कर्ट की जगह सलवार पहनेंगे !!

🚩अब स्कूल में ‘गुड मॉर्निंग’ की जगह अब ‘हरिओम’ बोलेंगे! स्कर्ट की जगह सलवार पहनेंगे !!
🚩 #केरल में #चिनम्याकनहागड़ ३स्कूल प्रशासन की ओर से जारी नियमों में कहा गया कि बच्चों को टीचरों और सीनियर अथॉरिटी को हाथ जोड़कर #हरिओम कहकर #नमस्कार करना होगा।
🚩स्कूल के नियम के मुताबिक बच्चों को सुबह स्कूल आते वक्त #गुड_मार्निंग की जगह "हरिओम" कहना पड़ेगा।
🚩चिनम्याकनहागड़ स्कूल नियमवाली के मुताबिक दिन में #प्रार्थना के दौरान , टीचर्स से क्लास की इंट्री के वक्त हाथ जोड़कर हरिओम कहना होगा। किसी विजिट्रर्स के आने पर भी बच्चों को गुड मार्निंग या #गुड_ऑफ्तरनून कहने की जगह हरिओम कहकर #प्रणाम करना होगा ।
🚩स्कूल की #प्रिंसिपल प्रतिभा ने बताया कि यह चिंमया संस्कृति का हिस्सा है और हम अपने #स्टूडेंट्स से इसे फॉलो करने की आशा करते हैं।

🚩केरल की चिनम्याकनहागड़ स्कूल के प्रशासन को सभी देशभक्त धन्यवाद करते हैं क्योंकि उन्होंने #अंग्रेजों की गुलामी वाली प्रथा को बन्द करके अपनी दिव्य #भारतीय #संस्कृति को बढ़ावा दिया है ।
🚩देशभक्तों का कहना है कि केंद्र सरकार की ओर से देश के सभी स्कूलों में 'गुड मॉर्निंग’ की जगह ‘हरिओम’ होना चाहिए ।
🚩कर्नाटक की सरकार का बड़ा फैसला !!
🚩 #कर्नाटक की सरकार ने #हाईस्कूल की #छात्राओं के लिए नया #ड्रेस लागू करने का फैसला किया है। सरकारी #स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राओं को अब #स्कर्ट और #शर्ट की जगह नए #ड्रेस कोड के तहत कुर्ता-चूड़ीदार या फिर #सलवार-#कमीज पहनना होगा।
🚩यह नियम #सरकारी स्कूल और राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त स्कूल में पढ़ने वाली 6वीं, 7वीं, 8वीं, 9वीं और 10वीं की करीब साढ़े छह लाख छात्राओं पर लागू होगा।
🚩यह यूनिफॉर्म आगामी #शैक्षणिक सत्र से लागू होगी ।
🚩कर्नाटक सरकार खूब-खूब धन्यवाद की पात्र है जो स्कर्ट पहनने की #विदेशी प्रथा को हटाकर सलवार-कमीज की प्राचीन भारतीय प्रथा को अपना रहे हैं ।
🚩सभी राज्य सरकार को कर्नाटक सरकार का अनुसरण करके #स्कर्ट-शर्ट की जगह #सलवार-कमीज कर देना चाहिए जिससे हमारे देश की #संस्कृति की गरिमा बनी रहे ।
🚩हॉस्टल में #लड़कियों के #मोबाइल पर पाबंदी !!
🚩झांसी उत्तर प्रदेश में वीरांगना झलकारी बाई महिला #पालीटेक्निक के हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों के लिए मोबाइल रखने और उसके प्रयोग पर प्रतिबंध है।
🚩हॉस्टल में मोबाइल #प्रतिबंधित होने के साथ-साथ वे अपनी मर्जी से बाहर भी नहीं जा सकते हैं ।
🚩ये भी होस्टल प्रशासन की अच्छी पहल है जो आजकल पढ़ाई करने के बदले मोबाइल में चिपके रहते हैं जिससे अच्छे मार्क नही आ पाते इसलिए ये बहुत जरूरी है ।
🚩आजकल के बच्चे मोबाईल में गेम खेलना, गन्दी फिल्में देखना, लड़के- लड़कियों का आपस में अधिक बातें करना आदि को लेकर बच्चे बचपन में ही अपना ओज तेज खो देते हैं।  जिससे आगे कुछ बड़ा काम नही कर पाते । #माँ-बाप का पैसा बर्बाद कर देते हैं और मोबाइल के अधिक उपयोग के कारण चिड़चिड़े हो जाते हैं जिससे वो अपनी माँ-बाप, #शिक्षक का आदर सम्मान भी नही कर पाते ।
🚩जैसे वीरांगना झलकारी बाई महिला पालीटेक्निक के #हॉस्टल के कड़क नियम हैं उसी प्रकार सभी हॉस्टल और स्कूलों में होना चाहिए जिससे हमारे देश के बच्चे होनहार होकर #भारत को फिर से #विश्वगुरु पद पर आसीन कर पाये ।
जय हिंद !!!
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube - https://goo.gl/J1kJCp
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Post a Comment