Saturday, December 7, 2019

अकबर की रानी से लेकर अनेक विद्वान मुस्लिम व ईसाई गीता के रहे हैं दीवाने

07 दिसंबर 2019

*🚩श्रीमद्भागवत गीता सिर्फ हिंदुओं का ही नहीं अपितु मानव मात्र का ग्रंथ है । ये एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें प्रत्येक धर्म, मजहब, मत, पंथ के लोगों के कल्याण का मार्ग बहुत ही सरलता से बताया गया है और हो भी क्यों न, आखिर इसका ज्ञान स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने दिया है ।*

*🚩वैसे तो गीता ग्रंथ का सभी धर्म के लोग सम्मान करते हैं लेकिन कट्टर मुसलमान की बच्ची और अकबर की रानी ताज भी इस गीताकार के गीत गाये बिना नहीं रहती थीं ।*

*🚩ताज अपनी एक कविता में कहती हैं कि...*

*सुनो दिलजानी मेरे दिल की कहानी तुम ।*
*दस्त ही बिकानी, बदनामी भी सहूँगी मैं ।।*
*देवपूजा ठानी मैं, नमाज हूँ भुलानी ।*
*तजे कलमा कुरान सारे गुनन गहूँगी मैं ।।*
*साँवला सलोना सिरताज सिर कुल्ले दिये ।*
*तेरे नेह दाग में, निदाग हो रहूँगी मैं ।।*
*नन्द के कुमार कुरबान तेरी सूरत पै ।*
*हूँ तो मुगलानी, हिन्दुआनी रहूँगी मैं ।।"*

*🚩अकबर की रानी ताज अकबर को लेकर आगरा से वृंदावन आयी । कृष्ण के मंदिर में आठ दिन तक कीर्तन करते-करते जब आखिरी घड़ियाँ आयी, तब ‘हे कृष्ण ! मैं तेरी हूँ, तू मेरा है...’ कहकर उसने सदा के लिए माथा टेका और कृष्ण के चरणों में समा गयी । अकबर बोलता है : ‘‘जो चीज जिसकी थी, उसने उसको पा लिया । हम रह गये...’’*

*🚩गीता माता के लिए ख्वाजा दिल मुहम्मद ने लिखा : ‘‘रूहानी गुलों से बना यह गुलदस्ता हजारों वर्ष बीत जाने पर भी दिन दूना और रात चौगुना महकता जा रहा है । यह गुलदस्ता जिसके हाथ में भी गया, उसका जीवन महक उठा । ऐसे गीतारूपी गुलदस्ते को मेरा प्रणाम है । सात सौ श्लोकरूपी फूलों से सुवासित यह गुलदस्ता करोड़ों लोगों के हाथ गया, फिर भी मुरझाया नहीं ।’*

*🚩गीता पढ़कर 1985-86 में गीताकार की भूमि को प्रणाम करने के लिए कनाडा के प्रधानमंत्री मि. पीअर ट्रुडो भारत आए थे ।*

*🚩ट्रुडो ने कहा है : ‘‘मैंने बाइबिल पढ़ी, एंजिल पढ़ी और अन्य धर्मग्रंथ पढ़े । सब ग्रंथ अपने-अपने स्थान पर ठीक हैं किंतु हिन्दुओं का यह ‘श्रीमद्भगवद्गीता’ ग्रंथ तो अद्भुत है । इसमें किसी मत-मजहब, पंथ या सम्प्रदाय की निंदा-स्तुति नहीं है वरन् इसमें तो मनुष्यमात्र के विकास की बातें हैं । गीता मात्र हिन्दुओं का ही धर्मग्रंथ नहीं है बल्कि मानवमात्र का धर्मग्रंथ है ।’’*

*🚩इतना ही नहीं महात्मा थोरो भी गीता के ज्ञान से प्रभावित हो के अपना सब कुछ छोड़कर अरण्यवास करते हुए एकांत में कुटिया बनाकर जीवन्मुक्ति का आनंद लेते थे ।*

*गीता के विषय में हस्तियों के विचार...*

*🚩श्रीमद्भगवद्गीता भारत के विभिन्न मतों को मिलानेवाली रज्जु तथा राष्ट्रीय-जीवन की अमूल्य संपत्ति है । भारतवर्ष का राष्ट्रीय धर्मग्रंथ बनने के लिए जिन-जिन विशेष गुणों की आवश्यकता है, वे सब श्रीमद्भगवद्गीता में मिलते हैं । इसमें केवल उपयुक्त बातें ही नहीं हैं अपितु यह भावी विश्वधर्म का सर्वोपरि धर्मग्रंथ है । भारतवर्ष के प्रकाशपूर्ण अतीत का यह महादान मनुष्य-जाति के और भी उज्जवल भविष्य का निर्माता है ।  - मि. एफ.टी. बू्रक्स* 

*🚩श्रीमद्भगवद्गीता योग का एक ऐसा ग्रंथ है जो किसी जाति, वर्ण अथवा धर्मविशेष के लिए ही नहीं अपितु सारी मानव-जाति के लिए उपयोगी है । - डॉ. मुहम्मद हाफिज सैयद*

*🚩किसी भी जाति को उन्नति के शिखर पर चढ़ाने के लिए गीता का उपदेश अद्वितीय है । - वॉरेन हेस्टिंग्स (भारत का वायसराय)*

*🚩भारतवर्ष के धार्मिक-साहित्य का कोई अन्य ग्रंथ भगवद्गीता के समान स्थान प्राप्त करने योग्य नहीं प्रतीत होता । - डॉ. रिचार्ड गार्वे*

*🚩भगवद्गीता में दर्शनशास्त्र और धर्म की धाराएँ साथ-साथ प्रवाहित होकर एक-दूसरे के साथ मिल जाती हैं । भगवद्गीता और भारत के प्रति हम लोग (जर्मन लोग) आकर्षित होते रहते हैं । - डॉ. एल्जे. ल्युडर्स (जर्मनी)*

*🚩सत् क्या है इसका विवेचन भगवद्गीता में बहुत अच्छी तरह से किया गया है । विश्व में यह ग्रंथ-रत्न अप्रतिम है, अद्भुत है ।*
*- लॉर्ड रोनाल्डशे*

*🚩बाईबल का मैंने यथार्थ अभ्यास किया है । उसमें जो दिव्यज्ञान लिखा है वह केवल गीता के उद्धरण के रूप में है । मैं ईसाई होते हुए भी गीता के प्रति इतना सारा आदरभाव इसलिए रखता हूँ कि जिन गूढ़ प्रश्नों का समाधान पाश्चात्य लोग अभी तक नहीं खोज पाये हैं, उनका समाधान गीताग्रंथ ने शुद्ध और सरल रीति से दिया है । उसमें कई सूत्र अलौकिक उपदेशों से भरपूर लगे इसीलिए गीताजी मेरे लिए साक्षात योगेश्वरी माता बन रही हैं । वह तो विश्व के तमाम धन से भी नहीं खरीदा जा सके ऐसा भारतवर्ष का अमूल्य खजाना है । - एफ. एच. मोलेम (इंग्लैन्ड)*

*🚩गीताग्रंथ अद्भुत है । विश्व की 578 भाषाओं में गीता का अनुवाद हो चुका है । हर भाषा में कई चिन्तकों, विद्वानों एवं भक्तों ने मीमांसाएँ की हैं और अभी भी हो रही हैं, होती रहेंगी क्योंकि  इस  ग्रंथ  में सभी देश, जाति, पंथ  के  सभी  मनुष्यों  के  कल्याण  की अलौकिक सामग्री भरी हुई है । अतः हम सबको गीताज्ञान में अवगाहन करना चाहिए । भोग, मोक्ष, निर्लेपता, निर्भयता आदि तमाम दिव्य गुणों का विकास करानेवाला यह गीताग्रंथ विश्व में अद्वितीय है । - ब्रह्मनिष्ठ स्वामी श्री लीलाशाहजी महाराज*

*🚩विरागी जिसकी इच्छा करते हैं, संत जिसका प्रत्यक्ष अनुभव करते हैं और पूर्ण ब्रह्मज्ञानी जिसमें ‘अहमेव ब्रह्मास्मि’ की भावना रखकर रमण करते हैं, भक्त जिसका श्रवण करते हैं, जिसकी त्रिभुवन में सबसे पहले वन्दना होती है, उसे लोग ‘भगवद्गीता’ कहते हैं ।*                                                                           *-संत ज्ञानेश्वरजी*

*🚩गीता के ज्ञानामृत के पान से मनुष्य के जीवन में साहस, समता, सरलता, स्नेह, शांति, धर्म आदि दैवी गुण सहज ही विकसित हो उठते हैं । अधर्म, अन्याय एवं शोषकों का मुकाबला करने का सामर्थ्य आ जाता है । निर्भयता आदि दैवी गुणों को विकसित करनेवाला, भोग और मोक्ष दोनों ही प्रदान करनेवाला यह ग्रंथ पूरे विश्व में अद्वितीय है । - संत आसारामजी बापू*

*🚩जिस मनुष्य ने श्रीमद्भगवद्गीता का थोड़ा भी अध्ययन किया हो, श्रीगंगाजल का एक बिन्दु भी पान किया हो अथवा भगवान श्रीविष्णु का सप्रेम पूजन किया हो, उसे यमराज नजर उठाकर देख भी नहीं सकते । अर्थात् वह संसार-बंधन से मुक्त होकर आत्यन्तिक आनन्द का अधिकारी हो जाता है ।*                                                                      *-जगद्गुरु श्री शंकराचार्यजी*

*📚( स्रोत:  संत श्री आसारामजी आश्रम द्वारा प्रकाशित, पत्रिका ऋषि प्रसाद )*

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺 facebook :




🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Friday, December 6, 2019

विश्व में सबसे श्रेष्ठ ग्रंथ श्रीमद्भगवद्गीता को क्यों माना जाता है ?

06 दिसंबर 2019

*🚩गीता में ऐसा उत्तम और सर्वव्यापी ज्ञान है कि उसकी रचना हुए हजारों वर्ष बीत गए हैं किन्तु उसके बाद, उसके समान किसी भी ग्रंथ की रचना नहीं हुई है । 18 अध्याय एवं 700 श्लोकों में रचित तथा भक्ति, ज्ञान, योग एवं निष्कामता आदि से भरपूर यह गीता ग्रन्थ विश्व में एकमात्र ऐसा ग्रन्थ है जिसकी जयंती मनायी जाती है ।* 

*🚩श्रीमद्भगवद्गीता ने किसी मत, पंथ की सराहना या निंदा नहीं की अपितु मनुष्यमात्र की उन्नति की बात कही है ।  गीता जीवन का दृष्टिकोण उन्नत बनाने की कला सिखाती है और युद्ध जैसे घोर कर्मों में भी निर्लेप रहने की कला सिखाती है । मरने के बाद नहीं, जीते-जी मुक्ति का स्वाद दिलाती है गीता ! इस साल श्रीमद्भगवद्गीता जयंती 08 दिसंबर को है ।*

*🚩‘गीता’ में 18 अध्याय हैं, 700 श्लोक हैं, 94569 शब्द हैं । विश्व की 578 से भी अधिक भाषाओं में गीता का अनुवाद हो चुका है ।*

*🚩'यह मेरा हृदय है’- ऐसा अगर किसी ग्रंथ के लिए भगवान ने कहा है तो वह गीता जी है । गीता मे हृदयं पार्थ । ‘गीता मेरा हृदय है ।’*

*🚩गीता ने गजब कर दिया - धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे... युद्ध के मैदान को भी धर्मक्षेत्र बना दिया । युद्ध के मैदान में गीता ने योग प्रकटाया । हाथी चिंघाड़ रहे हैं, घोड़े हिनहिना रहे हैं, दोनों सेनाओं के योद्धा प्रतिशोध की आग में तप रहे हैं । किंकर्तव्यविमूढ़ता से उदास बैठे हुए अर्जुन को भगवान श्रीकृष्ण ज्ञान का उपदेश दे रहे हैं ।*

*🚩आजादी के समय स्वतंत्रता सेनानियों को जब फाँसी की सजा दी जाती थी, तब ‘गीता’ के श्लोक बोलते हुए वे हँसते-हँसते फाँसी पर लटक जाते थे ।*

*🚩श्री वेदव्यास ने महाभारत में गीता का वर्णन करने के उपरान्त कहा हैः*

*गीता सुगीता कर्तव्या किमन्यैः शास्त्रविस्तरैः।*
*या स्वयं पद्मनाभस्य मुखपद्माद्विनिः सुता ।।*

*'गीता सुगीता करने योग्य है अर्थात् श्री गीता को भली प्रकार पढ़कर अर्थ और भाव सहित अंतःकरण में धारण कर लेना मुख्य कर्तव्य है, जो कि स्वयं श्री पद्मनाभ विष्णु भगवान के मुखारविन्द से निकली हुई है, फिर अन्य शास्त्रों के विस्तार से क्या प्रयोजन है ?'*

*🚩गीता सर्वशास्त्रमयी है । गीता में सारे शास्त्रों का सार भार हुआ है । इसे सारे शास्त्रों का खजाना कहें तो भी अतिश्योक्ति न होगी । गीता का भलीभाँति ज्ञान हो जाने पर सब शास्त्रों का तात्त्विक ज्ञान अपने आप हो सकता है । उसके लिए अलग से परिश्रम करने की आवश्यकता नहीं रहती ।*

*🚩वराहपुराण में गीता की महिमा का बयान करते-करते भगवान ने स्वयं कहा हैः*

*गीताश्रयेऽहं तिष्ठामि गीता मे चोत्तमं गृहम्।*
*गीताज्ञानमुपाश्रित्यत्रींल्लोकान्पालयाम्यहम्।।*

*'मैं गीता के आश्रय में रहता हूँ। गीता मेरा श्रेष्ठ घर है। गीता के ज्ञान का सहारा लेकर ही मैं तीनों लोकों का पालन करता हूँ।'*

*🚩श्रीमद् भगवदगीता केवल किसी विशेष धर्म या जाति या व्यक्ति के लिए ही नहीं, वरन् मानवमात्र के लिए उपयोगी व हितकारी है । चाहे किसी भी देश, वेश, समुदाय, संप्रदाय, जाति, वर्ण व आश्रम का व्यक्ति क्यों न हो, यदि वह इसका थोड़ा-सा भी नियमित पठन-पाठन करें तो उसे अनेक अनेक आश्चर्यजनक लाभ मिलने लगते हैं ।*

*🚩श्रीमद् भगवद् गीता के ज्ञानामृत के पान से मनुष्य के जीवन में साहस, सरलता, स्नेह, शांति और धर्म आदि दैवी गुण सहज में ही विकसित हो उठते हैं । अधर्म, अन्याय एवं शोषण  मुकाबला करने का सामर्थ्य आ जाता है । भोग एवं मोक्ष दोनों ही प्रदान करने वाला, निर्भयता आदि दैवी गुणों को विकसित करनेवाला यह गीता ग्रन्थ पूरे विश्व में अद्वितीय है ।*

*🚩सशरीर स्वर्ग में जाकर शस्त्र ले आने की क्षमता वाले अर्जुन को भी गीता के अमृत के बिना किंकर्त्तव्यविमूढ़ता ने घेर रखा था। गीता माता ने अर्जुन को सशक्त बना दिया। गीता माता अहिंसक पर वार नहीं कराती और हिंसक व्यक्तियों के आगे हमें डरपोक नहीं होने देती।*


*देहं मानुषमाश्रित्य चातुर्वर्ण्ये तु भारते।*
*न श्रृणोति पठत्येव ताममृतस्वरूपिणीम्।।*
*हस्तात्त्याक्तवाऽमृतं प्राप्तं कष्टात्क्ष्वेडं समश्नुते।*
*पीत्वा गीतामृतं लोके लब्ध्वा मोक्षं सुखी भवेत्।।*

*🚩भरतखण्ड में चार वर्णों में मनुष्य देह प्राप्त करके भी जो अमृतस्वरूप गीता नहीं पढ़ता है या नहीं सुनता है वह हाथ में आया हुआ अमृत छोड़कर कष्ट से विष खाता है। किन्तु जो मनुष्य गीता सुनता है, पढ़ता है तो वह इस लोक में गीतारूपी अमृत का पान करके मोक्ष प्राप्त कर सुखी होता है।*

*🚩विदेशों में श्री गीताजी का महत्व समझकर स्कूल, कॉलेजों में पढ़ाने लगे हैं, भारत सरकार भी अगर बच्चों एवं देश का भविष्य उज्ज्वल बनाना चाहती है तो सभी स्कूलों कॉलेज में गीता अनिवार्य कर देना चाहिए ।*

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺 facebook :




🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Thursday, December 5, 2019

ये है हमारा कानून : अरबों का घोटाला करनेवाले को और मौलाना को जमानत, हिंदू संत की रिजेक्ट

05 दिसंबर 2019
http://azaadbharat.org
*🚩भारत देश का कानून इतना महान है कि अगर आपके ऊपर कोई आरोप लगता है और आप नेता, अभिनेता, पत्रकार, अमीर या पादरी अथवा मौलवी हैं तो आसानी से जमानत हासिल कर लेंगे लेकिन अगर आप आम आदमी हैं, हिन्दूनिष्ठ हैं या हिंदू साधु-संत हैं तो न्यायालय के चक्कर लगाते रहिये आपको जमानत मिलना तो मुश्किल, आपको सालों तक जेल में सड़ना पड़ेगा और ऊपर से आपको कोर्ट के चक्कर लगाते ही रहने पड़ेंगे और मीडिया आपको बदनाम करती रहेगी।*
*🚩आज ऐसे ही कुछ उदाहरण आपके सामने पेश करते हैं जिसको पढ़कर चौकन्ने हो जाएंगे।*

*● आई.एन.एक्स मीडिया से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्बरम को 106 दिन में जमानत मिल गई। चिदंबरम द्वारा आईएनएक्स मीडिया समूह को विदेश से 305 करोड़ रुपये का धन प्राप्त करने की मंजूरी देने में अनियमितताएं हुईं थीं। लेकिन न्यायालय ने सिर्फ दो लाख रुपये के मुचलके और दो जमानती के जमानत पर बेल दी है।*
*● मौलाना कैफी अली रिज़वी पर आरोप है कि उसने 18 अक्टूबर, 2019 को कमलेश तिवारी जी की हत्या किए जाने के बाद हत्यारों को घर में शरण दी और उन्हें आर्थिक मदद के साथ उनका इलाज भी कराया था। लेकिन उनको सिर्फ 41 दिन में ही कोर्ट ने जमानत दे दी।*
*● कांग्रेस पार्टी के राहुल गांधी पर मुंबई, अहमदाबाद और पटना जैसी 3 जगहों पर मानहानि के केस चल रहे हैं, आठ दिन में तीनों न्यायालय ने जमानत दे दी थी।*
*● मनी लॉन्ड्रिंग केस में रॉबर्ट वाड्रा को दिल्ली कोर्ट से जमानत मिल गई ।*
*● सलमान खान दारू पीकर गरीबों को कुचल देता है, निचली अदालत सजा सुनाती है, ऊपरी कोर्ट से 2 घण्टे में जमानत मिल गई थी।*
*● पादरी फ्रैंको पर 13 बार बलात्कार करने का आरोप है पर 24 दिन में ही जमानत मिल जाती है।*
*● आतंकवादियों के हथियार रखने के मामले में संजय दत्त सजा काट रहा था फिर भी बार-बार पैरोल पर छोड़ दिया जाता था।*
*● दिल्ली के इमाम बुखारी पर 65 गैरजमानती वारंट जारी है पर पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाती है और न्यायालय इसपर कोई कार्यवाही नहीं कर रही है।*
*● तहलका पत्रिका के संस्थापक तरुण तेजपाल पर रेप का आरोप सिद्ध हो जाने के बाद भी जमानत पर है।*
*इन सबको आसानी से जमानत हासिल हो जाती है, पर 85 वर्षीय वृद्ध हिंदू संत आसाराम बापू को जमानत नहीं मिल सकती।*
*🚩आपको बता दें कि बापू आसारामजी को उम्रकैद की सजा सुनाई है पर मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार तो लड़की के शरीर पर एक खरोंच की भी पुष्टि नहीं होती है और ना ही कोई ऐसा एविडेंस है जो उनके खिलाफ हो, लड़की के कॉल डिटेल के अनुसार तो तथाकथित घटना के समय वह वहाँ थी ही नहीं और बापू आसारामजी भी किसी अन्य कार्यक्रम में व्यस्त थे। उसके 50-60 लोग साक्षी भी हैं फिर भी उम्रकैद सुनाना और जमानत नहीं देना अपने आप में बड़ा आश्चर्य है। जबकि उनसे 50 करोड़ की फिरौती मांगी थी और मांग पूरी न करने पर उन्हें झूठे केस में फँसाने की धमकी भी दी गई, उसका प्रूफ भी है उनके पास।*
https://youtu.be/gEjc3Fy5zd4
*🚩बापू आसारामजी को जमानत न देने में कहीं उनके ये दोष तो आड़े नहीं आ रहे हैं ??*
*1). लाखों धर्मांतरित ईसाइयों को पुनः हिंदू बनाया व करोड़ों हिन्दुओं को अपने धर्म के प्रति जागरूक किया व आदिवासी इलाकों में जाकर जीवनोपयोगी सामग्री दी, और हिंदू धर्म की महिमा बताई जिससे धर्मान्तरण करने वालों का धंधा चौपट हो गया ।*
https://youtu.be/_ka7NT9QGkk
*2). कत्लखाने में जाती हज़ारों गौ-माताओं को बचाकर, उनके लिए विशाल गौशालाओं का निर्माण करवाया।*
https://youtu.be/Nyp9jwIMprg
*3). शिकागो विश्व धर्मपरिषद में स्वामी विवेकानंदजी के 100 साल बाद जाकर हिन्दू संस्कृति का परचम लहराया।*
https://youtu.be/fQ7DtN1dc0Q
*4). विदेशी कंपनियों द्वारा देश को लूटने से बचाकर आयुर्वेद/होम्योपैथिक के प्रचार-प्रसार द्वारा एलोपैथिक दवाइयों के कुप्रभाव से असंख्य लोगों का स्वास्थ्य और पैसा बचाया ।*
*5). लाखों-करोड़ों विद्यार्थियों को योग व उच्च संस्कार का प्रशिक्षण देकर ओजस्वी- तेजस्वी बनाया और बालसंस्कार केंद्र खुलवाए।*
https://www.youtube.com/user/BaalSanskar
*6). लंदन, पाकिस्तान, चाईना, अमेरिका और बहुत सारे देशों में जाकर सनातन हिंदू धर्म का ध्वज फहराया।*
*7). वैलेंटाइन-डे की जगह "मातृ-पितृ पूजन दिवस" प्रारम्भ करवाया।*
https://www.youtube.com/playlist?list=PLiOv8vH9OCZn8cmUQCFX4uITvmn4LkxRr
*8). क्रिसमस-डे के दिन प्लास्टिक के क्रिसमस ट्री को सजाने के बजाय, तुलसी पूजन दिवस मनाना शुरू करवाया।*
https://www.youtube.com/playlist?list=PLiOv8vH9OCZnl4cJ8JrMXSxiWVSX4i4xV
*9). करोड़ों लोगों को अधर्म से धर्म की ओर मोड़ दिया।*
*10). नशा मुक्ति अभियान के द्वारा करोड़ों लोगों को व्यसन-मुक्त कराया।*
https://youtu.be/1RXvQ3sK-00
*11). वैदिक शिक्षा पर आधारित अनेकों गुरुकुल खुलवाए।*
https://youtu.be/d3oyaZtDUp4
*12). मुश्किल हालातों में कांची कामकोटि पीठ के "शंकराचार्य श्री जयेंद्र सरस्वतीजी" बाबा रामदेव, मोरारी बापूजी, साध्वी प्रज्ञा एवं अन्य संतों का साथ दिया  ।*
https://youtu.be/ph80RJD3kZQ
*🚩इतने संगीन जुर्म करने पर भी अपराधियों को जमानत देने वाला न्यायालय बापू आसारामजी को जमानत नहीं दे रहा है......पता है क्यों ??*
*◆ क्योंकि वे हिंदू संत हैं,*
*◆उनके अनुयायी सड़कों पर नहीं आयेंगे,*
*◆विदेशी फंडेड बिकाऊ मीडिया उनके विरोध में है ।*
*◆सेक्युलर हिंदू मीडिया की बात मानकर उनकी खिल्ली उड़ायेंगे, कुछ हिंदूनिष्ठ लोग होंगे जो उनके लिए आवाज उठाएंगे पर वो आवाज दबा दी जायेगी ।*
*🚩अब आप ही देख लो कि समान न्याय अमल में लाया जा रहा है कि केवल समान न्याय बोला ही जा रहा.......??*
*लगता है जो देश, धर्म व संस्कृति की रक्षा करते हैं और गरीब लोग हैं उनके लिए अलग न्याय है।*
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Tuesday, December 3, 2019

कड़े कानून होने के बाद भी रेप की घटनाएं इन कारणों से हो रही हैं...

03 दिसम्बर 2019
http://azaadbharat.org
*🚩महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भारत में कड़े कानून बनाये गए हैं । यहाँ तक कि फाँसी का भी प्रावधान है। लेकिन फिर भी रेप नहीं रुक रहे हैं... इसका कारण स्पष्ट है पर उसपर ध्यान नहीं दिया जाता है और दूसरे मुद्दे भड़काए जाते हैं।*
*🚩अगर कड़े कानून से रेप रुक जाते तो विदेशों में इतने रेप नहीं होते ।*
*यौन हिंसा किसी एक देश की महिलाओं की समस्या नहीं है। पूरी दुनिया की महिलाएं इस समस्या से जूझ रही हैं। अमेरिका, कनाडा, स्वीडन और ब्रिटेन जैसे सबसे विकसित देशों में रेप की सबसे ज्‍यादा घटनाएं हुई हैं।*
*● अमेरिका में हर डेढ़ मिनिट में एक रेप होता है। 12 से 16 साल की 83 फीसदी लड़कियों का किसी ना किसी रूप में यौन उत्पीड़न किया गया है।* 
*● इंग्लैंड में हर 5 में के एक महिला किसी न किसी रूप में यौन हिंसा का शिकार हुई हैं।*
*● दक्षिण अफ्रीका में हर दिन औसतन 1400 रेप की घटनाएं होती हैं।*
*● स्‍वीडन में हर चार में से एक महिला रेप की शिकार हुई है।*
*● न्‍यूजीलैंड में हर तीसरी लड़की और हर छठा लड़का 16 साल की उम्र से पहले ही यौन शोषण का शिकार हो जाता है।*
*● कनाडा में हर साल 4,60,000 यौन हिंसा के मामले होते हैं।*
*● ऑस्ट्रेलिया में 2015 में जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक 18 वर्ष से ज्‍यादा उम्र के 52.2 लाख लोग यौन उत्पीड़न का शिकार थे।*
*● ज़िम्बाब्वे में हर दिन 16 महिलाओं के साथ रेप की वारदात हो रही है।*
*● फिनलैंड में हर 10 में एक महिला को 15 साल की उम्र से पहले ही किसी बालिग ने यौन हिंसा का शिकार बनाया ।*
*● भारत में हर 6 घंटे में एक महिला रेप का शिकार बन जाती है।*
https://hindi.news18.com/news/knowledge/know-which-10-countries-are-most-infamous-for-rape-average-1400-women-are-raped-daily-in-this-country-2652715.html
*🚩'भारत में पहले रेप नहीं होते थे लेकिन जबसे मुगल और अंग्रेज आये तबसे रेप शुरू हुए हैं।' इसके कारण स्पष्ट हैं ।*
*★1. शास्त्र अनुसार संयम- सदाचार की शिक्षा न देना...।*
*★2. फिल्मों, सीरियलों, इंटरनेट, विज्ञापनों, अखबारों आदि द्वारा अश्लीलता परोसना...।*
*★3. खुलेआम दारू आदि नशीले पदार्थों की बिक्री...।*
*★4. संयम- सदाचार की शिक्षा देने वाले साधु-संतों को षड्यंत्र के तहत जेल भेजना...।*
*★5. भारतीय हिंदू संस्कृति से विमुख होना...।*
*🚩कड़े कानून के साथ इसपर ध्यान दिया जाए तो रेप को घटनाएं बंद हो सकती हैं नहीं तो केवल कड़े कानून बनाने पर तो निर्दोष पुरुष भी झूठे केस के शिकार बन सकते हैं।*
*★1. शास्त्र अनुसार संयम- सदाचार की शिक्षा न देना...।*
*मनु स्मृति कहती है :-*
*"यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता: ,*
*यत्रैतास्तु न पूज्यन्ते सर्वास्तत्राफला: क्रिया: ।"*
*अर्थात जिस कुल में नारियों की पूजा, अर्थात सत्कार होता है, उस कुल में दिव्यगुण , दिव्य भोग और उत्तम संतान होते हैं और जिस कुल में स्त्रियों की पूजा नहीं होती, वहां जानो उनकी सब क्रिया निष्फल है ।*
*🚩हमारे देश में नारी को 'नारायणी' भी कहा है, हमारे ऋषि-मुनि व शास्त्र ने तो ये भी आज्ञा दी है कि छोटी को बेटी समान, समकक्ष को बहन समान और बड़ी को माता समान मानो। अगर पाश्चात्य संस्कृति के अनुसार नारी को भोग्या माना तो रेप जैसी घटनाएं होती रहेगी और भारतीय शास्त्र अनुसार नारी को नारायणी माना तो रेप हो ही नहीं सकते। इसलिए बच्चों को स्कूल में बचपन से वेदों को ज्ञान देना अत्यंत जरूरी है । उनमें संयम और सदाचार की शिक्षा दी गई है और उससे व्यक्ति महान बनाता है।*
*★2. फिल्मों, सीरियलों, इंटरनेट, विज्ञापनों, अखबारों आदि द्वारा अश्लीलता परोसना।*
*🚩सुबह से रात तक कई बार सनी लियोनी के गंदे विज्ञापन देखते हैं ..!! फिर दूसरे विज्ञापन में रणवीर सिंह शैम्पू के ऐड में लड़की पटाने के तरीके बताता है ..!! फिल्म्स आती है जिसमें चुम्बन, आलिंगन, रोमांस से लेकर गंदी कॉमेडी आदि सब कुछ दिखाया जाता है।*
*आज सोशल मीडिया इंटरनेट और फिल्मों में पोर्न परोसा जा रहा है । तो बच्चों के अंदर विकार आयेंगे और बलात्कार जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं। सरकार को ऐसी अश्लीलता पर रोक लगानी चाहिए और जनता को इसका बहिष्कार करना चाहिए।*
*★3. खुलेआम दारू आदि नशीले पदार्थों की बिक्री ।*
*🚩भारत देश सभ्य देश है । इसमें नशा करना पाप माना गया है...पर आज जगह-जगह पर दारू बार खुल गया है जिसके कारण लोग नशे में चूर होकर रेप जैसी घटनाओं का अंजाम देते हैं।*
*★4. संयम सदाचार की शिक्षा देने वाले साधु-संतों को षड्यंत्र के तहत जेल भेजना।*
*🚩साधु-संत के प्रति लोगों की श्रद्धा होती है और वे वेदों और शास्त्रों का ज्ञान देते हैं, हमे संयम- सदाचार की ओर ले जाते हैं। करोड़ों लोगों के व्यसन छुड़ाते हैं, फ़िल्म आदि देखने के लिए मना करते हैं। वेलेंटाइन-डे जैसे त्यौहार की जगह माता-पिता का पूजन करवाते हैं, भारतीय संस्कृति के अनुसार अपना जीवन बनाने को शिक्षा देते हैं। गरूकुल खोलकर बच्चों को बचपन से ही धर्म के मार्ग पर अग्रसर करते हैं, जिसके कारण वे कोई अपराध नहीं करते हैं। इन सबके कारण विदेशी कम्पनियों को घाटा होता है क्योंकि उनके प्रोडक्ट कोई खरीदेगा नहीं जिससे मिशनरियां धर्मांतरण नहीं करवा पाएंगी। इसलिए हिंदू साधु-संतों को मीडिया द्वारा बदनाम करवाकर जेल भिजवाया जाता है जैसे कि शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती, स्वामी असीमानन्द, संत आसाराम बापू, कृपालु महाराज आदि आदि...।*
*★5. भारतीय हिंदू संस्कृति से विमुख होना ।*
*🚩हमारी भारतीय संस्कृति इतनी महान है कि हम पर नारी को माता के समान समझते हैं लेकिन पाश्चात्य संस्कृति में नारी को भोग्या समझा जाता है जिसके कारण रेप जैसी घटनाएं बनती हैं । अगर भारतीय संस्कृति के अनुसार जीवन जीने वाला परहित के लिए कार्य करता है, अपना स्वार्थ छोड़ देता है, वो प्राणीमात्र पर दया करता है । भारतीय संस्कृति के अनुसार जीवन जीने वाला मनुष्य अपराध नहीं कर सकता, फ़िल्म आदि नहीं देखेगा, नशा नहीं करेगा, अर्धनग्न कपड़े नहीं पहनेगा इन बुराइयों से दूर रहेगा तो कोई अपराध होगा ही नहीं..... फिर कानून भी अपने आप पालन होगा।*
*🚩जनता कड़े कानून की मांग करे और सरकार भले कितने भी कड़े कानून बनाये लेकिन जबतक इन मुद्दों पर ध्यान नहीं दिया जायेगा तबतक बलात्कार जैसी घटनाएं रुकेंगी नहीं !! इसलिए सबसे पहले इन मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए नहीं तो कड़े कानून का 'घातक हथियार' के नाइ दुरुपयोग किया जा रहा है । कई निर्दोष पुरुषों को फंसाया गया है और वास्तव में जो महिलाएं पीड़ित हैं उनको न्याय नहीं मिल पाता है। इसलिए सरकार से नम्र निवेदन है कि कड़े कानून के साथ इन मुद्दों पर भी कार्य करे।*
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ