Monday, November 19, 2018

पत्रकारों व हिंदुनिष्ठों के लिए कानून अलग-अलग है ?

19 नवम्बर 2018
www.azaadbharat.org
🚩आजकल जितनी तेजी से भारत में कानूनों के मायने बदल जाते हैं उतनी तेजी से तो शायद आप टेलिविज़न में चैनल भी नहीं बदल पाते होंगे । जी हाँ आजकल हमारे देश के कानूनों में बहुत ही शीघ्रता से परिवर्तन होता नजर आता है ।
🚩और वो भी बात अगर किसी हिन्दू संत या हिन्दू धर्म के किसी प्रतिनिधि की हो तो फिर कहना ही क्या?
🚩वर्तमान की स्थिति देखकर लगता है कि कानून के नियम नेता-अभिनेता एवं अमीर और पत्रकारों के लिए अलग और किसी हिंदुनिष्ठ या हिन्दू साधु-संत के लिए अलग-अलग होते हैं ।  किसी हिन्दू धर्म के संत या हिंदुत्व का प्रतिनिधित्व करने वालों पर मात्र एक आरोप लगने की देर होती है और उनकी गिरफ्तारी हो जाती है तथा मीडिया की झूठी कहानियों की पट्टियां भी शुरू हो जाती है, लेकिन वहीं अगर कोई नेता-अभिनेता या पत्रकार अथवा किसी अन्य धर्म के धर्म गुरु हों तो उनके द्वारा किये गए दुष्कृत्यों पर मीडिया और पुलिस मूकदर्शक बन बैठ जाते हैं और न्यायलय से उन्हें जमानत भी तुरंत दे दी जाती है ।
🚩ऐसे कई केस हमने देखे  तरुण तेजपाल, दीपक चौरसिया, सलमान खान, लालू यादव, विजय माल्या इन सबके आरोप सिद्ध होने पर भी जमानत मिल गयी और अभी फ्रैंको मुल्लकल का केस भी हमने देखा जिसमें संगीन आरोपों के बावजूद उसे रिहा किया गया । ऐसा ही एक केस जो अभी देखने को मिला वो था इंडिया टुडे के एंकर गौरव सावंत का, जिसमें उनपर पत्रकार विद्या कृष्णन ने यौन शोषण का आरोप लगाया ।
Laws vary for journalists and Hindus?

🚩आपको दें कि विद्या कृष्णन जोकि The Hindu में फॉर्मर हेल्थ एडिटर हैं, उन्होंने इंडिया टुडे के एग्जीक्यूटिव एडिटर गौरव सावंत पर यौन शोषण के आरोप लगाए हैं । अभी हाल ही में शुरू हुए #MeToo अभियान के तहत कई ऐसे लोगों ने भी अपनी अवाज उठायी है जिनके साथ वर्षों पहले दुष्कृत्य हुआ और वे उस समय न बता पाए हों, उनमें से ही एक हैं विद्या कृष्णन ।
🚩विद्या कृष्णन ने आरोप लगाया है कि अबसे 15 साल पहले 2003  जब उन्हें उनका पहला assignement मिला था मिलिट्री बेस कैम्प की रिपोर्टिंग का, तब की ये घटना है । लेकिन उस समय क्योंकि गौरव सावंत के काफी नाम था वो अपने साथ हुई घटना के बारे में लोगों को नहीं बता पाईं, लेकिन अब #MeToo अभियान के तहत उन्होंने अपने साथ हुई घटना को लोगों के साथ साझा किया ।
🚩अब यहाँ सवाल ये उठता है कि गौरव सावंत पर आरोप लगने के बावजूद उसपर कार्यवाही क्यों नहीं कि जा रही है ? क्या सिर्फ इसलिए कि वो एक पत्रकार हैं ? या उन्होंने अभी से ही एक मोटी रकम दे दी है ? और तो और सत्यवादी होने का दावा करने वाली बिकाऊ मीडिया भी इस बारे में कोई न्यूज़ नहीं दिखा रही है, क्या ये गलत नहीं है ?
🚩एक ओर तो हिन्दू वादी लोगों तथा हिन्दू संतों व प्रतिनिधियों के लिए नए-नए कानून लाए जाते हैं, वहीं दूसरी ओर पत्रकारों, नेताओं तथा अभिनेताओं को VIP ट्रीटमेंट दिया जाता है । क्यों हर बार लोगों के साथ साथ कानून के मायने भी बदल दिए जाते हैं ? अपने इसी आचार-व्यवहार के कारण न्यायालय से लोगों का भरोसा उठता जा रहा है । अगर न्यायालय ने अपनी नीति नहीं बदली तो जल्द ही वे दिन भी आएंगे जब लोगों को न्यायालय की अवहेलना करते देर नहीं लगेगी ।
🚩विनोबा जी ने कहा था कि'#भारत का अपना एक न्याय था और बाहर से आया हुआ एक न्याय । भारत का न्याय था पंच परमेश्वर द्वारा न्याय । आजकल अपने यहाँ जो बाहर का चलता है । यह इंपोर्टेड (आयातित) न्याय है । उसे'एक्सपोर्ट' कर देना चाहिए (बाहर भेज देना चाहिए।)'
🚩कुछ लोगों के मामले में आज जिस प्रकार न्यायपालिका अपना काम कर रही है वो आम लोगों के मन में उसकी प्रतिष्ठा को तो कम करता ही है, निष्पक्ष न्याय को लेकर आशंका और अविश्वास को भी बल देता है। अगर समय रहते हम नहीं सँभले तो इसके दूरगामी परिणाम निश्चित तौर पर बहुत घातक होंगे । अतः समय रहते सरकार व न्यायपालिका को सावधान हो जाना चाहिए ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Sunday, November 18, 2018

संतान प्राप्ति व महापातकों का नाश करना है तो यह व्रत जरूर करें

18 नवम्बर 2018

🚩भीष्म पंचक का हिन्दू धर्म में बड़ा ही महत्त्व है। पुराणों तथा #हिन्दू #धर्मग्रंथों में कार्तिक माह में 'भीष्म पंचक' व्रत का विशेष महत्त्व कहा गया है। 

🚩 सदाचारी एवं #संयमी व्यक्ति ही जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर सकता है । सुखी-सम्मानित रहना हो, तब भी #ब्रह्मचर्य की जरूरत है और उत्तम स्वास्थ्य व लम्बी आयु चाहिए, तब भी ब्रह्मचर्य की जरूरत है ।

🚩 माँ गंगा के #पुत्र भीष्म पितामह पूर्व जन्म में वसु थे । अपने पिता की इच्छा पूर्ति के लिए आजन्म अखण्ड ब्रह्मचर्य के पालन का दृढ संकल्प करने के कारण पिता की तरफ से उनको इच्छा मृत्यु का वरदान मिला था।
If you want to achieve childhood and destroy
 the great sages, then do this fast.
🚩 कार्तिक शुक्ल एकादशी से पूनम तक का व्रत ‘भीष्मपंचक व्रत कहलाता है । इसबार यह व्रत 19 नवम्बर से 23 नवम्बर तक किया जायेगा । जो इस व्रत का पालन करता है, उसके द्वारा सब प्रकार के शुभ कृत्यों का पालन हो जाता है । यह महापुण्यमय व्रत महापातकों का नाश करनेवाला है । निःसंतान व्यक्ति पत्नीसहित इस प्रकार का व्रत करे तो उसे संतान की प्राप्ति होती है ।

🚩 भीष्मपंचक व्रत कथा 

🚩  #कार्तिक #एकादशी के दिन बाणों की शय्या पर पड़े हुए भीष्मजी ने जल की याचना की थी । तब अर्जुन ने संकल्प कर भूमि पर बाण मारा तो गंगाजी की धार निकली और #भीष्मजी के मुँह में आयी । उनकी प्यास मिटी और तन-मन-प्राण संतुष्ट हुए । इसलिए इस दिन को भगवान श्रीकृष्ण ने पर्व के रूप में घोषित करते हुए कहा कि ‘आज से लेकर #पूर्णिमा तक जो अर्घ्यदान से भीष्मजी को तृप्त करेगा और इस भीष्मपंचक व्रत का पालन करेगा, उस पर मेरी सहज प्रसन्नता होगी ।

🚩 इसी संदर्भ में एक और कथा है...

महाभारत का युद्ध समाप्त होने पर जिस समय #भीष्म_पितामह सूर्य के उत्तरायण होने की प्रतीक्षा में शरशैया पर  शयन कर रहे थे । तक भगवान कृष्ण पाँचो पांडवों को साथ लेकर उनके पास गये थे । ठीक अवसर मानकर युधिष्ठर ने भीष्म पितामह से उपदेश देने का आग्रह किया । भीष्म जी ने पाँच दिनों तक राज #धर्म , #वर्णधर्म मोक्षधर्म आदि पर उपदेश दिया था । उनका उपदेश सुनकर #श्रीकृष्ण सन्तुष्ट हुए और बोले, ”पितामह! आपने शुक्ल एकादशी से #पूर्णिमा तक पाँच दिनों में जो #धर्ममय उपदेश दिया है उससे मुझे बड़ी प्रसन्नता हुई है । मैं इसकी स्मृति में आपके नाम पर #भीष्म पंचक व्रत स्थापित करता हूँ । जो लोग इसे करेंगे वे जीवन भर विविध सुख भोगकर अन्त में मोक्ष प्राप्त करेंगे।

🚩 भीष्म पंचक व्रत में क्या करना चाहिए ? 

इन पाँच दिनों में अन्न का त्याग करें । कंदमूल, फल, #दूध अथवा #हविष्य (विहित सात्त्विक आहार जो यज्ञ के दिनों में किया जाता है) लें । 

इन पाँच दिनों में निम्न मंत्र से भीष्मजी के लिए तर्पण करना चाहिए :
सत्यव्रताय शुचये गांगेयाय महात्मने । भीष्मायैतद् ददाम्यघ्र्यमाजन्मब्रह्मचारिणे ।।

‘आजन्म ब्रह्मचर्य का पालन करनेवाले परम पवित्र, सत्य-व्रतपरायण गंगानंदन महात्मा भीष्म को मैं यह अर्घ्य देता हूँ ।
(स्कंद पुराण, वैष्णव खंड, कार्तिक माहात्म्य)

🚩अर्घ्य के जल में थोडा-सा कुमकुम, केवड़ा, पुष्प और #पंचामृत (गाय का दूध, दही, घी, शहद और शक्कर) मिला हो तो अच्छा है, नहीं तो जैसे भी दे सकें । ‘मेरा ब्रह्मचर्य दृढ रहे, #संयम दृढ रहे, मैं कामविकार से बचूँ... - ऐसी प्रार्थना करें ।

🚩इन दिनों में #पंचगव्य (गाय का दूध, दही, घी, गोझरण व गोबर-रस का मिश्रण) का सेवन लाभदायी है । 

🚩पानी में थोड़ा-सा #गोझरण डालकर स्नान करें तो वह #रोग-दोषनाशक तथा पापनाशक माना जाता है । 

🚩इन दिनों में #ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए । 

🚩जो नीचे लिखे #मंत्र से भीष्मजी के लिए अर्घ्यदान करता है, वह मोक्ष का भागी होता है :
वैयाघ्रपदगोत्राय सांकृतप्रवराय च । अपुत्राय ददाम्येतदुदकं भीष्मवर्मणे ।।
वसूनामवताराय शन्तनोरात्मजाय च । अघ्र्यं ददामि भीष्माय आजन्मब्रह्मचारिणे ।।

‘जिनका व्याघ्रपद गोत्र और सांकृत प्रवर है, उन पुत्ररहित #भीष्मवर्मा को मैं यह जल देता हूँ । वसुओं के अवतार, शान्तनु के पुत्र, आजन्म #ब्रह्मचारी #भीष्म को मैं अर्घ्य देता हूँ ।

🚩 इस व्रत का प्रथम दिन #देवउठी एकादशी है l इस दिन भगवान नारायण जागते हैं l इस कारण इस दिन निम्न मंत्र का उच्चारण करके भगवान को जगाना चाहिए :
 उत्तिष्ठोत्तिष्ठ गोविन्द उत्तिष्ठ गरुडध्वज l
उत्तिष्ठ कमलाकान्त त्रैलोक्यमन्गलं कुरु ll 
'हे गोविन्द ! उठिए, उठिए , हे गरुड़ध्वज ! उठिए, हे कमलाकांत ! #निद्रा का त्याग कर तीनों लोकों का मंगल कीजिये l'
इस एकादशी के दिन कपूर से भगवान नारायण की आरती करने से अकाल मृत्यु नही होती है ।
(ऋषि प्रसाद : नवम्बर 2007)

🚩 आपतक इस महान व्रत को इलेक्ट्रॉनिक या प्रिंट मीडिया नहीं पहुँचायेगी इसलिये आज़ाद भारत के लाखों पाठकों तक इस #व्रत की महिमा पहुँचा रहे हैं जिससे आप इस व्रत को करके सुखी स्वस्थ्य, संयमी जीवन जी सकें ।

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk


🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt

🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Saturday, November 17, 2018

जनता बोली कोर्ट बन गया है थिएटर हॉल, जहाँ सब कुछ पहले से लिखा हुआ है

17 नवम्बर 2018

🚩जनता न्यायालयों को न्याय का मंदिर तथा न्यायधीशों को न्याय का देवता मानती थी और उन्हें सर्वाधिक आदर भी देती थी लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया लोगों के हृदय में न्यायालयों की छवि धूमिल होती गयी और इस छवि के धूमिल होने के पीछे का सबसे बड़ा कारण जो था, वो था न्यायालयों के द्वारा दिए गए फैसले ।

🚩आजकल न्यायालयों द्वारा फैसले दिए नहीं बल्कि बेचे जाने लगे हैं और अगर आप पिछले कुछ वर्षों पर गौर करेंगे तो आपको देखने को मिलेगा कि न्यायालय द्वारा एक-एक करके सिर्फ हिन्दू संस्कृति, हिन्दू साधु-संतों तथा हिन्दू त्यौहारों पर कुठाराघात किया जा रहा है, सबरीमाला मंदिर और राम मंदिर का ज्वलंत उदाहरण आप सबके सामने है ।

🚩ये वही देश है जहां जब कसाब जैसे आतंकियों को फैसला सुनाना होता है तब तो कोर्ट रात को 2:30 बजे भी खुलते हैं, लेकिन वहीं दूसरी ओर बड़े दुःख के साथ ये कहना पड़ रहा है कि इसी देश में वर्षों तक निर्दोष संतों, निर्दोष व्यक्तियों, निर्दोष हिंदुत्वादी कार्यकर्ताओं को सालों बीत जाते हैं जेल में सिर्फ न्याय की आस में ।
Public Bid Court has become a Theater Hall,
 where everything is already written

🚩अभी हाल ही में पादरी फ्रैंको मुल्लकल जैसे आरोपी, जिस पर अत्यंत संगीन आरोप लगे फिर भी उसे 21 दिनों में ही बेल मिल गई जबकि दूसरी ओर बापू आसारामजी जिन्हें एक झूठे आरोप में 5 वर्षों से भी अधिक समय तक जेल में रखा फिर आजीवन कारावास की सज़ा सुना दी गई ।

🚩न्यायव्यवस्था के दोगलेपन पर जनता आक्रोश में है साफ-सुथरी न्यायप्रणाली की मांग कर रही है ।

*🚩#CleanseOurCourts हैशटैग आज टॉप 5 में ट्रेंड कर रहा था । जिसमें न्यायपालिका के विरुद्ध हजारों ट्वीटस देखने को मिली ।*

🚩उनमें से कुछ यूज़र्स के विचार आपके सामने रख रहे हैं:-

🚩(1) पदमजा जी कहते हैं  कि माई लार्ड अब समय है #CleanseOurCourts का
न्यायप्रणाली पर अब आम आदमी का भरोसा कम होता जा रहा है क्योंकि गरीब और विचाराधीन कैदियों को न्याय समय पर नहीं मिल रहा।
नेता व जिनका राजनैतिक संबंध हैं वो खुलेआम घूम रहे हैं देश को लूटने के बाद भी!

🚩 (2) कार्तिक जी कहते हैं कि #CleanseOurCourts 1947 में स्वतंत्रता के बाद भारतीय न्यायपालिका अस्तित्व में आई । कानून सामाजिक परिस्थितियों में बनाये गए थे तब । पर अब, काफी कानून निरर्थक हो गए हैं ।

🚩(3) आकाश जी का कहना है कि 
जातिवाद विलंबित न्याय जल्द और मिड नाईट ट्रायल दोस्तों के लिए एन्टी नेशनल्स को बेल दे देना, भ्रष्ट और बदमाश यह ट्रेडमार्क है हमारी न्यायपालिका का!

🚩(4) स्मृति फंस लिखती हैं कि एक ओर लार्ड अयप्पा के भक्तों को गिरफ्तार कर उन्हें कष्ट पहुँचाया जाता है, वहीं दूसरी ओर जो घोटाला करते हैं 2G, कॉमन वेल्थ और जो 1000 करोड़ों रुपए लूटते है वो खुलेआम बाहर घूम रहे हैं।

🚩(5) सशक्त भारत का कहना है कि
भारतीय न्यायपालिका के दो पक्ष । रेप का आरोपी 3 महीने के बाद गिरफ्तार होता है, पर हिन्दू भक्त तुरंत गिरफ्तार किया जाता है बिना विलम्ब के #CleanseOurCourts
रेपिस्ट को बेल दे दी जाती है और वही दूसरी ओर कोर्ट हिंदुओं की बेल रिजेक्ट करता है।

🚩(6) पर्था जी लिखते हैं
आजकल कोर्ट पूरा थिएटर हॉल बन गया है जहाँ सब कुछ पहले से लिखा हुआ है किसी के द्वारा पूरी कहानी, स्क्रीनप्ले और डायरेक्शन के साथ, पर वो है कौन जो यह सब लिख रहा है??

🚩(8) अनिल जी का कहना है कि अगर न्यायपालिका चाहती है कि जनता कानून और अदालत का आदर करें तो, उसको दिखाना होगा उसके आचरण और निर्णय से कि 1. कानून के ऊपर कोई नहीं है और 2. कानून सब के लिए समान है

🚩(9) अरविन्द जी कहते हैं न्यायपालिका में जज अब तानाशाह बन गए हैं और सोचते हैं कि उनके ऊपर कोई नहीं है, उनके शब्द भगवान के शब्द है।
वो आम आदमी को contempt ऑफ court के अंदर डरा के रखते हैं
पिछले कुछ सालों से, Contempt of court के अंदर जज गैर जिम्मेदार हो गए हैं।

🚩(10)  कविता जी लिखती हैं कि 
न्यायपालिका को कभी नहीं देखा कि वह डिफेंस डील और हथियारों के प्रोक्योरमेंट में इन्वॉल्व हो जो कि हमारे देश की रक्षा के लिए है और यह जानकारी यदि किसी गलत इंसान के हांथों लग जाए तो देश के लिए खतरा है।

🚩इस तरह से आज हजारों ट्वीट्स देखने को मिली हैं । इससे पता चलता है कि जनता अब चुप नहीं रहना चाहती, उसे भी निर्दोषों के साथ हो रहे अन्याय से पीड़ा हो रही है और हो भी क्यों न आज किसी और के भाई, पिता या परिवार वाले निर्दोष होने पर भी सज़ा काट रहे हैं, कल हो सकता है कि इन्हीं लोगों के परिवार वालों पर झूठा आरोप लग जाए और अगर यही न्यायव्यवस्था रही तो सालों तक न्याय के लिए न्यायालयों के चक्कर ही काटने पड़ेंगे ।

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk


🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt

🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ