Friday, August 26, 2016

आखिर टोल टैक्स वसूली का अत्याचार कब तक !!



🚩आखिर जनता कब तक शोषित होंगी..???
🚩#लागत_वसूल, #सड़कें बदहाल, फिर भी जारी है #टोल का #अत्याचार...!!!
🚩आज कल हम अपनी गाड़ी से सफर करते हैं तो जगह - जगह पर #टोल_टैक्स मिलते है । इतनी #मंहगाई और #पेट्रोल-#डीजल इतना महँगा उसके बाद भी इतने #टोल_टैक्स इससे जनता की कमर टूटी जा रही है ।
🚩#देश में लगभग 400 #टोल_प्लाजा है । जो हर जगह हैं और उनके खिलाफ जनता का गुस्सा भी हर जगह है।
🚩कहीं तो खराब सड़क होने के बावजूद भी टोल टैक्स वसूली की जाती है ।
🚩#दिल्ली-#गुड़गांव के बीच टोल प्लाजा में तो लंबे जाम और भारी #ट्रैफिक होने के बाद भी उसको बन्द नही किया जा रहा है ।
🚩जब #सरकार #सड़क, #पुल, #हाईवे जैसे #बुनियादी ढांचे के लिए टैक्स वसूलती है, तो सड़कों के लिए अलग से टोल क्यों लगता है..???
🚩लागत वसूल...!!!फिर भी टोल टैक्स जारी है ।

🚩सरकार ने 2005 में हाईवे निर्माण में निजी #कंपनियों की मदद लेने का फैसला हुआ।
🚩गाड़ी को खरीदते वक्त ही #रोड़_टैक्स जमा किया जा चुका है, #राज्य में #बॉडर प्रवेश करने के लिए  टैक्स भी लिया जाता है, उसके बाद भी अलग से टोल #टैक्स वसूलना कहाँ तक जायज है???
🚩दिल्ली से #आगरा जाने वाले रोड़ को सिक्स लेन करने का ठेका रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर की सहयोगी कंपनी डीए टोल रोड प्राइवेट लिमिटेड को 26 मई, 2010 को ही दे दिया गया था । 16 अक्तूबर 2012 से यहां सिक्स लेन के हिसाब से टोल वसूली शुरू भी हो गई, लेकिन सीएजी के मुताबिक 27 जून 2013 तक इस परियोजना में कोई प्रगति नहीं हुई । हां, कंपनी पैसा कमाती रही । अगस्त 2013 तक कंपनी ने 120 करोड़ रु. टोल वसूला और इस पैसे को सिक्स लेन रोड़ बनाने की बजाए कंपनी ने टोल से मिले पैस से 78 करोड़ रु. रिलायंस लिक्विड फंड्स में निवेश कर दिए ।
🚩टोल वसूलने का धंधा मुनाफे का है, तभी तो देश में टोल रोड की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है ।
🚩2011-12 में टोल से जहां 7,000 करोड़ रु. की कमार्ई होती थी, वहीं 2013-14 में 11,000 करोड़ रु. से ज्यादा की कमाई हुई ।
🚩#राजस्थान और #आंध्र_प्रदेश ऐसे दो राज्य हैं जहां सबसे ज्यादा टोल प्लाजा हैं उसमे ज़े कुछ टोल प्लाजा पर पैसा कब का वसूल कर चुके हैं, फिर भी चले जा रहे हैं । बन्द नही कर रहे हैं ।
🚩#सीएजी की #रिपोर्ट ने आठ टोल परियोजनाएं ऐसी भी पाई हैं जिन्हें टोल वसूली के लिए जरूरत से ज्यादा साल दिए गए हैं । इससे ये कंपनियां 28,000 करोड़ रु. की अतिरिक्त आमदनी करेंगी । तो क्या टोल का यह खेल राहगीरों को लूटने वाला नहीं होता जा रहा है???
🚩#राजस्थान_हाइकोर्ट की जस्टिस एम.एन. भंडारी की पीठ ने टोल टैक्स बढ़ाने के फैसले को खारिज कर दिया । अदालत ने पूछा कि जब रोड़ की हालत ही खराब है तो टोल किस बात का बढ़ाया जा रहा है?
🚩#भारतीय_सड़कों पर हर साल पांच लाख #दुर्घटनायें होती है उन मौतों को किस तरह रोका जाए उस पर भी सरकार को ध्यान देना होगा ।
🚩#टोल_वसूली के कारण लम्बी जाम भी लग जाती है जिससे जनता का समय भी खराब होता है ।
🚩टोल टैक्स के खिलाफ कई बार हिंसक #प्रदर्शन और टोल के मसले पर देश में जगह-जगह होने वाले विरोध प्रदर्शनों के बाद भी टोल टैक्स बन्द क्यों नही किया जाता ???
🚩जनता की आवाज को सुनकर सरकार को टोल प्लाजाओं पर टैक्स बन्द कर देना चाहिए जिससे लोगो को #महंगाई से कुछ तो राहत मिलेगी ।
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube - https://goo.gl/J1kJCp
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Post a Comment