Thursday, February 25, 2016

Alert! Alert!! Alert !!! Beware Of the Mobile Numbers

🚩हिन्दुस्तानी सावधान!!!
💥आपके मोबाईल में पाकिस्तान से बजती है '+92' की घंटी, भूलकर भी ना करें रिसीव!
💥पाकिस्तान सीमा पार से #आतंकी भेजने तक सीमित नहीं है, बल्कि वहीं बैठे-बिठाए #भारत में तबाही मचाने के लिए भोले-भाले लोगों को फंसाना हो या फिर #सेना की #जासूसी करवाना, इतना ही नही #जालसाजी के जरिए भारतीय लोगों को #आर्थिक नुकसान पहुंचाने से भी बाज नहीं आ रहा है। 
💥'+923033161022' जैसे #नम्बरों से आपको फोन आएं तो उसे रिसीव नहीं करें। गलती से #रिसीव कर भी लिया तो इसकी सूचना थाना #पुलिस और #ATS #कन्ट्रोल #रूम नंबर 0141-2601583 पर तत्काल दें। एेसा नहीं करने पर आप #भारतीय #खुफिया #एजेंसी की #रडार पर आ सकते हैं।
🔥 निर्देश जारी....💥ATS ने थाना पुलिस के लिए भी निर्देश जारी किए हैं कि थाना पुलिस को पाकिस्तान के #कोड वाले #नंबर से फोन आने की शिकायत करते ही उसकी सूचना ATS कन्ट्रोल रूम को तत्काल उपलब्ध कराएं।

🔥हनी ट्रैप...
💥सेना की जासूसी के लिए
खुफिया सूत्रों के मुताबिक, #भारतीय #सेना की #गतिविधियों और योजनाओं की जानकारी हासिल करने के लिए #पाकिस्तान #हनी #ट्रैप का सहारा ले रहा है। #युवतियाँ अपनी पहचान छुपाकर भारतीय सेना के जवानों को #फोन करती हैं और उन्हें तरह-तरह का #प्रलोभन देती हैं ताकि उन्हें अपने #चंगुल में #फंसा सके। वे सैनिकों से सैन्य कार्यवाही या उससे जुड़ी कोई #महत्वपूर्ण #जानकारी हासिल करने की कोशिश करती हैं। पिछले कुछ समय से हनी ट्रैप पर कड़ा पहरा देखते हुए #पाकिस्तान ने भारतीय अधिकारी बनकर सरकारी विभागों में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों को फोन कर खुफिया जानकारी जुटाने के प्रयासों में तेजी लायी है।
🔥मोटी रकम का झांसा...
भारतीय सीमा से सटे क्षेत्र और देश के अंदरूनी इलाकों में रहने वाले लोगों के पास पाकिस्तान से फोन आता है। फोन रिसीव करने वाले को मोटी रकम (करोड़ों में) कमाने का झांसा दिया जाता है। वे  वहां से भारतीयों के मोबाइल नंबर पर मिस कॉल भी देते रहते हैं। जवाब देने वाले को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। 
🔥एक माह में एक लाख कॉल...
💥#खुफिया सूत्रों के मुताबिक, अकेले #राजस्थान के निवासियों के पास एक माह में एक लाख के करीब पाकिस्तान से कॉल आते हैं। #देशभर के आँकड़े की कोई गिनती ही नही है। सेना, पुलिस और अन्य सरकारी विभागों के अधिकारी, कर्मचारियों के अलावा आम जन के पास ये फोन आते हैं।
🔥चौबीस घंटे खुला है कन्ट्रोल रूम...
💥पाक से फोन आता है, उस पर बात होती है या नहीं, लेकिन सभी लोगों का फर्ज है कि वे उस नंबर की जानकारी ATS कन्ट्रोल रूम पर दें। ATS का कन्ट्रोल रूम चौबीस घंटे काम करता है।
-डॉ. आलोक त्रिपाठी, एडीजी एटीएस राजस्थान
💥http://dhunt.in/Xjqr
via Dailyhunt
🚩Official Jago hindustani Visit
👇👇👇👇👇
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩
Post a Comment