Tuesday, May 3, 2016

अमेरिका का बलात्कारी ईसाई पादरी भारत में फिर से बन गया पादरी

🚩अमेरिका का बलात्कारी ईसाई पादरी भारत में फिर से बन गया पादरी...
💥#अमेरिका में एक नाबालिग से बलात्कार का गुनाह कबूलने वाला भारतीय मूल का एक पादरी #भारत लौटकर फिर से #चर्च का #फादर बन गया ।
💥ये मामला पिछले साल सामने आया था, जब मेगन पीटरसन नाम की एक #अमेरिकी महिला ने फादर #जोसेफ पी #जयापॉल पर #बलात्कार का #आरोप लगाया था ।
💥महिला ने बताया था कि जब वो सिर्फ 14 साल की थी तो जयापॉल ने उसके साथ कई बार बलात्कार किया था। कम उम्र की वजह से वो काफी समय तक किसी से शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा सकी । बड़े होने के बाद उसने पादरी जयापॉल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी ।
💥#पादरियों की नियुक्ति करने वाली रोमन कैथोलिक संस्था ने #वेटिकन की मंजूरी मिलने के बाद जयापॉल को पिछले दिनों #तमिलनाडु की एक चर्च का कार्यभार सौंप दिया । जयापॉल के पुराने #इतिहास की जानकारी के #बावजूद #वेटिकन ने उसे भारत में #पादरी बनाए जाने पर कोई एतराज नहीं जताया ।
💥अमेरिका में #बलात्कार का #दोषी पाए जाने के बाद पिछले ही साल वेटिकन ने उस पर पाबंदी लगा दी थी। जयापॉल की उम्र 61 साल है ।
💥नाबालिग उम्र में पादरी के हाथों #बलात्कार का शिकार हुई अमेरिकी महिला ने भारत में #रोमन #कैथोलिक संस्थाओं से #औपचारिक विरोध दर्ज कराया है ।
💥उसने अपनी शिकायत में कहा है कि इस खबर ने उसके पुराने जख्मों को कुरेद दिया है । महिला ने भारत में रोमन कैथोलिक संस्थाओं के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ने की बात भी कही है ।
💥उसने बताया है कि 2004 में मिनेसोटा के #क्रुकस्टन में पादरी पद पर रहे जयापॉल ने उसे लगातार अपनी हवस का शिकार बनाया था।
💥2005 में जयापॉल भारत चला आया था । शिकायत सामने आने के बाद वेटिकन ने 2010 में उससे सस्पेंड कर दिया था । मार्च 2012 में ही भारत सरकार ने उसे गिरफ्तार करके अमेरिका को प्रत्यर्पण कर दिया था। जहां पर वो जेल में भी रहा । बाद में अपना अपराध कबूल कर उसने सजा से माफी पा ली ।
💥एक #बलात्कारी को चर्च का पादरी बनाने पर भारत में ईसाई संगठनों ने चुप्पी साध रखी है। यहां तक कि रोमन कैथोलिक संस्थाएं इसे सही ठहराने की भी कोशिश कर रही हैं । इस बीच पीड़ित #महिला ने कहा है कि जरूरत पड़ी तो वो भारत जाकर इस दरिंदे पादरी की पोल सबको बताएगी ।
💥ये है #ईसाई #पादरियों के काले कारनामे..
💥पर मीडिया को हिन्दू #साधु संतो को बदनाम करने से फुर्सत मिले तो इस दिशा की ओर कदम उठाये...या तो यूँ कहिये क़ि  मीडिया इस ओर अपनी दृष्टि करना ही नही चाहती है क्योंकि मीडिया की अच्छे से सांठ-गांठ है ईसाईयों के साथ । इसलिए उनके विरुद्ध 1 मिनिट की भी #न्यूज़ नही दिखाती ।
💥और एक कारण यह भी है क़ि #भारत में 80% न्यूज़ चैनल के मालिक ईसाई है । उनका संचालन वहीँ से होता है तो क्यों #ईसाई पादरियों के कुकर्म समाज के सामने लायेंगे जबकि उनके निशाने पर तो हर समय भारत के निर्दोष संत रहते है ।
💥आश्चर्य की बात तो यह है क़ि पढ़े लिखे मूर्ख हिन्दू भी #बिकाऊ मीडिया की बात को सच मानकर #हिन्दू #संतों के लिए ही गलत बोलते रहते है ।
💥उनको लगता है कुछ तो होंगा तभी #मीडिया दिखा रही है ।
💥अरे मूर्ख हिन्दुओं!!! बिकाऊ मीडिया मिशनरियों के साथ मिलकर #हिन्दू #संस्कृति को तोड़ने के लिए दिन-रात कार्यरत है इसलिए हिन्दू संतों की छवि को धूमिल करने के लिए दिन-रात उनके खिलाफ बोलती हैं ।
💥लेकिन इतना जानकर भी आप अपने ही #धर्म के #संतों की निंदा करते हो और उनके ऊपर अन्याय होते देखकर भी आप हंसते हो तो हिन्दू संस्कृति के पतन के कारण में आप भी शामिल हो ।
💥अतः अगर #हिन्दू संस्कृति को बचाना चाहते हो तो अपने हिन्दू सन्तों पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ अपनी आवाज उठाओ ।
💥और #बिकाऊ न्यूज़ चैनल जब भी हिन्दू संतों के खिलाफ कोई खबर दिखाये तो उसे फोन करके पूछो क़ि आज तक क्यों किसी ईसाई पादरी या #मौलवी के लिए खबर नही दिखाते हो...???
💥हिन्दू स्वयं विचारे...अगर हिन्दू ही हिन्दू संस्कृति की रक्षा नही करेंगा, तो क्या वो लोग करेंगे जो हिन्दू संस्कृति को तोड़ने के सपने देख रहे है ।
💥जागो हिन्दू नही तो एक बाद एक की बारी...
🚩Official Jago hindustani Visit
👇👇👇👇👇
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩
Post a Comment