Saturday, May 26, 2018

8 राज्यों में हिन्दू कब अल्पसंख्यक हो गए पता ही नही चला, मिलेगा अल्पसंख्यक का दर्जा

🚩भारत हिन्दू बाहुल देश है लेकिन विदेशी #आक्रमणकारियों ने आकर #बलपूर्वक या लालच से #धर्मपरिवर्तन करवा दिया वो स्थिति आज भी बनी हुई है देश मे। #ईसाई मिशनरियां लालच देकर और मुस्लिम बलपूर्वक #धर्मपरिवर्तन कराने का प्रयास पुरजोर कर रहे हैं यह हिन्दुओं के लिए चिंताजनक स्थिति बनी हुई है अगर ऐसा आगे भी चलता रहा तो 8 राज्यों कि तरह अन्य राज्यों में भी शीघ्र हिन्दू अल्पसंख्यक हो जाएंगे ।

When 8 Hindus became minor in 8 states,
 they did not know, they would get minority status

🚩भाजपा नेता #अश्विनी उपाध्याय ने उच्चतम न्यायालय में अर्जी दाखिल किया था और देश के आठ राज्यों में हिन्दुओं को अल्पसंख्यक का दर्जा देने कि मांग की है । याचिकाकर्ता अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि इन आठ राज्यों में हिंदू अल्पसंख्यक हैं । ऐसे में इन राज्यों में हिन्दुओं को अल्पसंख्यकों वाले अधिकार मिलने चाहिए ।
🚩इन राज्यों में #लक्षद्वीप, #जम्मू-कश्मीर, मिजोरम, #नागालैंड, #मेघालय, #अरुणाचल प्रदेश, #मणिपुर और पंजाब शामिल हैं । याचिकाकर्ता ने 1993 में केंद्र सरकार कि आेर से जारी नोटिफिकेशन को भी असंवैधानिक घोषित करने कि मांग की है ।
🚩याचिकाकर्ता उपाध्याय ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि 23 अक्टूबर 1993 में नोटिफिकेशन जारी कर मुस्लिम समेत अन्य समुदाय के लोगों को अल्पसंख्यकों का दर्जा दिया था ।
🚩उपाध्याय ने कहा कि 2011 के जनगणना के आंकड़ों कि मानें तो देश के 8 राज्यों में हिंदू अल्पसंख्यक हैं लेकिन उन्हें इन राज्यों में यह दर्जा अभी तक नहीं मिला है ।
🚩याचिका में कहा गया है कि किसी भी समुदाय के अल्पसंख्यकों का दर्जा सिर्फ उनकी जनसंख्या के आधार पर ही मिलना चाहिए । याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कानून मंत्रालय को प्रतिवादी बनाया है ।
🚩आंकडों के अनुसार इन सात राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में हिन्दू इतने प्रतिशत ही बचे है मिजोरम (2.70%), लक्षद्वीप (2.80%), नागालैंड (8.70%), मेघालय (11.50%), जम्मू-कश्मीर (28.40%), अरुणाचल प्रदेश (29.00%), पंजाब (38.50%) और मणिपुर में (41.40) प्रतिशत है।  तीन राज्यों नागालैंड, मिजोरम और मेघालय में ईसाई बहुसंख्यक होते जा रहे हैं। #जम्मू-कश्मीर और #लक्षद्वीप में #मुस्लिम समुदाय #बहुसंख्यक है। 
🚩 राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने इस संबंध में एक विशेष कमेटी भी गठित की है। यह कमेटी इस मुद्दे पर विचार के लिए 14 जून को एक बैठक करेगी। बैठक में इस मसले पर फैसला लिए जाने कि संभावना है।
🚩 केंद्र सरकार हर साल राज्य सरकारों को अल्पसंख्यकों कि मदद के लिए करोड़ों रुपए कि आर्थिक मदद देती है। मगर इसका लाभ देश के उन आठ राज्यों में नहीं मिल पा रहा है जहां वे सही मायनों में अल्पसंख्यक हैं।
🚩भारत में हिन्दू खत्म किये जा रहे हैं । अगर अब भी हिन्दू नहीं जगे तो हिंदुओं का अस्तित्व समाप्त होता चला जायेगा । #हिन्दुओं के #खात्मे कि बड़ी भयंकर #साजिश रची जा रही है। 
🚩आपको बता दें कि भारत में अधिकतर स्थानों पर #ईसाई पादरी प्रलोभन देकर #धर्मान्तरण करवा रहे हैं दूसरी ओर मुस्लिमों द्वारा जबरन  या लवजिहाद द्वारा धर्मपरिवर्तन कराया जा रहा है अभी भी हिन्दू नहीं जगे तो जैसे #आठ #राज्यों में #हिन्दू #अल्पसंख्यक हो गये है ऐसे ही अन्य राज्यों में भी होने लगेंगे ।
🚩वेटिकन सिटी और इस्लामिक देशों द्वारा भारतीय #मीडिया में भारी #फंडिंग कि जा रही है जिससे वे गरीबी, #श्री राम मंदिर, धारा 370, #गौ-हत्या, महंगाई, किसानों कि #आत्महत्या, जवानों कि हत्या, हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार आदि समस्याओं पर बहस नहीं करके केवल हिन्दू #साधु-संतों के #खिलाफ ही खबरें दिखाते हैं और भोले हिन्दू इस बात को सही समझकर उनके ही धर्मगुरुओं पर उंगली उठाते हैं और गलत टिप्पणियाँ करते हैं । जबकि मीडिया ईसाई पादरियों और मौलवियों द्वारा हो रहे कुकर्मो को छुपाता है क्योंकि उनके द्वारा फंडिग की जा रही है।
🚩गौरतलब है कि आजतक जिन्होंने भी हिन्दू धर्म कि हित कि बात की, धर्मांतरण पर रोक लगाई, हिन्दुओं कि घर वापसी करवाई, विदेशी कम्पनियों का बहिष्कार करवाया, पाश्चात्य संस्कृति का विरोध किया उन हिन्दू साधु-संतों एवं कार्यकताओं के खिलाफ सुनियोजित षडयंत्र करके उनकी हत्या करवा दी गई या मीडिया द्वारा बदनाम करवाकर ,राजनेताओं से मिलकर जेल भिजवा दिया गया ।
🚩हिन्दुआें कि जो स्थिति आज इन 8 राज्यों में है वह स्थिति बाकि राज्यों में ना हो इसलिए हिन्दुआें को जागृत होकर स्वयं का अस्तित्व बचाने हेतु अब संगठित होना होगा ।
🚩इसपर हिन्दू जनजागृति के कुछ सूत्र भी ध्यान में लेना चाहिए…
*🚩1.* हिन्दुआें को अल्पसंख्यक का दर्जा देने के साथ-साथ इन राज्यों में हिन्दुआें कि संख्या क्यों कम हो रही है ? इसकी भी जांच होनी चाहिए । क्योंकि पहले वहां हिन्दू बहुसंख्यंक थे ।
*🚩2.* कश्मीर कि स्थिति तो सभी को ज्ञात ही है ।
कैसे वहां हिन्दुआें का नरसंहार किया गया ? कैसे वहां से हिन्दुआें को अपना घर-जमीन छोडने के लिए मजबूर किया गया, कश्मीर के बाद देश के कर्इ राज्यों में हिन्दू स्वयं को बचाने हेतु पलायन कर रहे हैं जिसका उदाहरण है उत्तरप्रदेश का कैराना गांव !
*🚩3.* आज हिन्दुआें के सामने धर्मांतरण, लव जिहाद, मंदिर सरकारीकरण जैसे कर्इ संकट है एेसे में उन्हे केवल अल्पसंख्यक का दर्जा देना पर्याप्त नही है ।
*आप क्या कर सकते हैं..???*
*🚩1.* जहां से हिन्दुआें को अपना घर-जमीन छोड़कर पलायन करने पर मजबूर किया गया है वहां हिन्दुआें को फिर से बसाने के लिए सरकार से निवेदन द्वारा मांग करें ।
*🚩2.* जहां हिन्दुआें काे डरा धमकाकर एवं लालच देकर धर्मान्तरित किया जाता है उसे रोकने के लिए प्रशासन को निवेदन दें ।
*🚩3.* हिन्दुआें कि यह दु:स्थिति बाकि के हिन्दुआें तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग करें तथा हिन्दुआें में जागृति फैलाए ।
*🚩4.* धर्मशिक्षा का अभाव यह भी हिन्दुआें कि इस दु:स्थिति का कारण है इसलिए उन्हे धर्मशिक्षा दें । 
🚩हिन्दू आज एकजुट होकर इन षडयंत्रों का विरोध नहीं करेंगे तो एक के बाद एक हिन्दुओं को नष्ट कर दिया जायेगा और हिन्दू अल्पसंख्यक होते जायेंगे ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Post a Comment