Friday, September 9, 2016

कैसे होता है गाय माता का इंटरनेशनल गोरख धंधा..???

🚩कैसे होता है गाय माता का इंटरनेशनल गोरख धंधा..???
🚩गाय तस्करी के इंटरनेशनल रैकेट का हुआ पर्दाफाश !!
🚩#भारत में #गोमांस और गाय की तस्करी पर पूरी तरह बैन है लेकिन क्या इस कानून का पालन हो रहा है..???
🚩इसी सवाल का जवाब तलाशने के लिए एक चैनल की #स्पेशल #इंवेस्टिगेशन टीम अपने खुफिया कैमरों के साथ असम पहुंची ।
🚩इसके बाद #इंटरनेशनल गाय तस्करी की परतें खुद-ब-खुद खुलती चली गईं ।
🚩गोमांस की सबसे बड़ी माँग वाला देश बांग्लादेश है । #बांग्लादेश में भारतीय गायों की मुँह माँगी कीमत मिलती है ।
🚩एक रिसर्च टीम ने गहन शोध करके भारत से बांग्लादेश तक गायों की इंटरनेशनल तस्करी के जो आंकड़े जुटाए, जो बेहद चौंकाने वाले थे ।

Jago Hindustani - कैसे होता है गाय माता का इंटरनेशनल गोरख धंधा..???
🚩बॉर्डर #सिक्योरिटी फोर्स यानी #BSF के मुताबिक भारत से हर साल करीब साढ़े तीन लाख गायों को चोरी-छिपे बांग्लादेश सीमा पार करवाकर बेचा जाता है । गौ तस्करी का सालाना कारोबार 15 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का है ।
🚩#गृहमंत्रालय के मुताबिक साल 2014 और 2015 के दौरान BSF ने 34 गाय तस्करों को मुठभेड़ में मार गिराया ।
🚩बांग्लादेश के #बॉर्डर एरिया से तस्करी करने के लिए ले जायी जा रही 200 से 250 गायों को BSF रोजाना बरामद करती है ।
🚩हमें पता चला है कि #असम गाय तस्करी का हॉट स्पॉट है । यहां से बांग्लादेश की करीब 263 किलोमीटर लंबी सीमा लगती है । इसी #बॉर्डर से असम से गायों को बांग्लादेश पहुंचाने का रूट बनता है ।
🚩शिवसागर कैटल #मार्केट से रोजाना गायें नावों में ठूसकर ले जाई जाती हैं ।
इन गायों को इंटरनेशनल बॉर्डर पार करवाकर बांग्लादेश के गाय तस्करों को बेच दिया जाता है ।
🚩इन गाय तस्करों के लिए कुछ भी गलत नहीं है ।कुछ भी #गैरकानूनी नहीं है ।इनके लिए तो बस पैसा ही सबकुछ है। यहां पशु मंडियों में एक गाय की औसत कीमत 55 हजार रुपये तक होती है ।
🚩असम बॉर्डर पार करवाते ही बांग्लादेश में गाय की कीमत 1 लाख रुपये तक हो जाती है । ऐसा इसलिए है क्योंकि बांग्लादेश में गोमांस की काफी मांग है।
इसी बात का मुनाफा #गो-तस्कर उठाते हैं ।
🚩 टीम पता लगाते-लगाते असम के लंका में पशु मंडी के जाने पहचाने नाम और कुख्यात गाय तस्कर आफताब तक पहुंच गई । वह #रिपोर्टर से गाय की इंटरनेशनल तस्करी का ठेका लेने को तैयार हो गया । रिपोर्टर ने उससे बातचीत की तो कई खुलासे हुए, जिसे सुनकर सन्न रह जाएंगे ।
🚩कैसे होता है गाय का इंटरनेशनल गोरख धंधा...???
रिपोर्टर- माल तो सारा इधर है । बंग्लादेश...बड़ा बड़ा ।
आफताब- ये तो सब जाएगा, ये तो आसाम का है, लेकिन जाएगा सब #बंग्लादेश ।
#रिपोर्टर- कोई हो आपकी नजर में....उधर का...ग्वालपाड़ा कोई हो ?
आफताब- आदमी है ।
रिपोर्टर- पार करा देगा माल ?
आफताब- हां...माल पार करा देगा ।
रिपोर्टर- कैसे जाएगा नदी से ?
आफताब- नदी से ही जाएगा ।
🚩इसके बाद टीम असम में लंका की पशु मंडी पहुंची । वहां ट्रकों पर गायें लादी जा रही थी । टीम ने कुछ #ड्राइवरों से बात की, तो असम से बांग्लादेश तक गायों की तस्करी का इंटरनेशनल रूट पता चल गया ।
🚩ट्रक ड्राइवरों ने बताया कि यहां से लोड हो रहा हर ट्रक सिलचर जाएगा । वहां से दूसरी गाड़ियां होंगी, जो बांग्लादेश बॉर्डर तक जाएँगी।
फिर तीसरी गाड़ी से गायों को बांग्लादेश के अंदर अलग-अलग स्थानों पर भेजा जाएगा । इस दौरान नदीं के जरिए भी #तस्करी होती है ।
ड्राइवर ने बताया तस्करी का प्लान
ट्रक ड्राइवर-1- हां, यहां से सिलचर जाएगा । वहां से दूसरी गाड़ी लेगा ।
रिपोर्टर- दूसरी गाड़ी में बंग्लादेश जाएगा ?
ट्रक ड्राइवर-2- हां ।
ट्रक ड्राइवर-1- बार्डर तक आप ले जा सकेंगे ।
ट्रक ड्राइवर-2- सिर्फ बार्डर तक !
इसके बाद बंग्लादेश जाने के लिए गाड़ी बदलना होगा ।
रिपोर्टर- गाड़ी बदलना होगा ?
ट्रक ड्राइवर-1- हाँ ।
रिपोर्टर- उधर गाड़ी मिल जायेगी बंग्लादेश वाली ?
ट्रक ड्राइवर-1- हाँ, आराम से #सिलचर में ही मिल जाएगा ।
🚩अब ये साफ हो चुका था कि नदी और जमीन दोनों तरीकों से #असम से गायों को बांग्लादेश पहुंचाया जाता है । इसके बाद टीम बांग्लादेश के बॉर्डर पर करीम गंज पहुँची । वहां असम का सबसे बड़ा गाय तस्कर #अब्दुल मोतीन टीम से मिलने के लिए तैयार हो गया । थोड़ी सी बातचीत के बाद मोतीन टीम से पूरी तरह खुल गया और धंधे की बात पर उतर आया ।
🚩उसने  बांग्लादेश के बाजार के बारे में बताया, जहां भारत से #तस्करी करके लायी गई गायें बेची जाती हैं । उसने तस्करी का पूरा प्लान भी समझाया ।
अब्दुल मोतीन- आपका माल बांग्लादेश में किस डिस्टिक जाएगा, मेरा एक बंदा फोन से काम करता है ।
रिपोर्टर- डायरेक्ट नहीं देता क्या ?
अब्दुल मोतीन- हम फोन से बिजनेस करते हैं । मैं जाके खुद माल खरीद नहीं करता हूँ , आप का #माल कहां से आएगा ?
रिपोर्टर- लंका से ।
अब्दुल मोतीन- लंका से कौन माल खरीद करेगा ?
रिपोर्टर- #लंका से हमारा आदमी खरीदेगा ।
#अब्दुल मोतीन- गाड़ी, भाड़ी, कस्टम, BSF और पुलिस का खर्चा लेकर दो लाख रुपया लगेगा एक गाड़ी का ।
🚩अब्दुल मोतीन जिस ट्रक को बांग्लादेश सीमा पार करवाने के लिए 2 लाख रुपये मांग रहा था । उस ट्रक में 18 गायों को स्मगल किए जाने की डील हुई थी ।
🚩अंदाजा लगाइये कि गो #तस्करी के इस इंटरनेशनल गोरखधंधे की मार्किट कितनी बड़ी है । इस तरह से आजतक के अंडरकवर रिपोर्टर ने असम से लेकर बांग्लादेश तक गाय के इंटरनेशनल #गोरखधंधे का पर्दाफाश किया । जो पूरे संगठित तरीके से होता है ।
🚩#भारत की गाय माता बांग्लादेश बॉर्डर पार करके गो तस्करों के लिए मुनाफे का सौदा बन जाती है ।
🚩आज गौ रक्षा का अर्थ अधिकांश लोग सिर्फ गौ माता को बचाने से समझते है और अधिकतर लोगों के लिए सिर्फ एक धार्मिक मुद्दा है जबकि ऐसा नहीं है।
🚩गौ रक्षा सिर्फ किसी एक #धर्म या संप्रदाय से जुड़ा विषय नहीं है बल्कि ये पूरे मानव समाज के अस्तित्व की लड़ाई है।
🚩जब भी गौ रक्षा की बात की गई तो इसे व्यापक अर्थ देने की बजाय सिर्फ धर्म की परिधि तक सीमित रखा गया । जिससे यह विषय एक सीमित दायरे में सिमट गया और जन मानस तक वास्तविक संदेश नही पहुंच पाया।
🚩गौ रक्षा सिर्फ किसी एक प्राणी के बचाव का मुद्दा नही है,  ये पूरे मानव समाज, राष्ट्र और प्रत्येक व्यक्ति के जीवन मरण का प्रश्न है।
🚩प्रात:काल देशी गाय के #गौ_मूत्र के सेवन से सेकड़ो बीमारिया दूर होती है
🚩गौ रक्षा प्रत्येक व्यक्ति को बचाने की लड़ाई है, जब समाज में गौ माता की रक्षा होगी, गौ आधारित कृषि और व्यापार होंगे, गौ माता के #दूध, #दही, #घी और #पंचगव्य से निर्मित चीजों का सेवन होगा तभी व्यक्ति के #सद्चरित्र का निर्माण होगा।
🚩सद्चरित्र लोगों से एक सभ्य और सुसंस्कृत समाज का #निर्माण होगा। प्राचीन भारत की धर्म और अर्थ व्यवस्था गौ पर ही निर्भर थी ।
🚩अतः हम सभी को #संगठित होकर अपने घरों में एक एक गाय रखनी होगी । आपके घर में गाय माता को रखना अनुकूल न हो तो जहाँ #गौशाला चलती हो वहाँ अपना दान देकर गौ #माता की #रक्षा करनी चाहिए और गौ रक्षको को सहयोग देना चाहिए ।
🚩जय हिन्द!!!
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube - https://goo.gl/J1kJCp
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Post a Comment