Sunday, March 6, 2016

Laws providing protection for women are fatal for women

🚩महिला-सुरक्षा के लिए बनाये गये कानून महिलाओं के लिए ही घातक बन रहे हैं ।
🚩#दिल्ली में आज #लाखों #महिलाओं ने निकाली #रैली #POCSO कानून के दुरूपयोग के खिलाफ।
🚩उनका कहना है क़ि POCSO के दुरुपयोग द्वारा विश्वविख्यात, लोकहितकारी संत #आसारामजी बापू जी को बिना सबूत जेल में रखना कहाँ तक उचित है..???
💥#दिल्ली महिला आयोग की जाँच के अनुसार- अप्रैल 2013 से 2014 तक #बलात्कार की 53% शिकायतें #झूठी पाई गयी है।
💥झूठे #रेप केसों के बढ़ते आँकड़ों को देखकर सभ्य परिवारों के पुरुष एवं महिलाएँ डरने लगे हैं । कोई भी निर्दोष पुरुष झूठे मामले में फँसाया जाता है तो उसके परिवार की सभी महिलाओं (#माँ, बहनें, मामी, मौसी आदि आदि) को अनेक प्रकार की यातनाएँ सहनी पड़ती हैं ।
💥भविष्य और सामाजिक जीवन बरबाद हो जाता है । आमदनी के स्रोत पर आघात हो जाता है । कई सरकारी व गैर-सरकारी संस्थान अब महिलाओं को नौकरी देने में हिचकिचा रहे हैं तथा नौकरीवाली महिलाओं के साथ भयवश भेदभावपूर्ण व्यवहार किया जा रहा है, जो महिलाओं के हित में नहीं है ।
💥महिला उत्थान व सशक्तीकरण के क्षेत्र में कार्य करनेवाले महान संत पूज्य श्री आशारामजी बापू को जेल में रखने से करोड़ों-करोड़ों माताएँ-बहनें आँसू बहा रही हैं ।
💥आज लाखों महिलाओं ने दिल्ली में विशाल रैली निकाली थी ।अंधे कानून का ऐसा क्रूर उपयोग होने से देश के न्याय-तंत्र पर से हिन्दुओं की आस्था डगमगा रही है ।
🚩पूज्य बापूजी के पवित्र जीवन व उपदेशों से प्रेरणा पाकर करोड़ों-करोड़ों लोगों के जीवन में संयम-सदाचार, सच्चाई, परोपकार, राष्ट्रसेवा और ईश्वरभक्ति जैसे  गुणों का विकास हुआ है ।
🚩#भारतीय #संस्कृति पर हो रहे कुठाराघात को रोकने तथा भारतीय संस्कृति के मूल्यों को समाज में स्थापित करने हेतु पूज्य बापूजी ने अथक प्रयास किये हैं, जिसका प्रत्यक्ष परिणाम करोड़ों लोगों के जीवन में आये सकारात्मक परिवर्तन के रूप में स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है ।
🚩पूज्य बापूजी ने बाल व युवा पीढ़ी में नैतिक एवं आध्यात्मिक मूल्यों के सिंचन हेतु हजारों बाल संस्कार केन्द्रों, युवा सेवा संघों व गुरुकुलों की स्थापना की, विकारों को भड़कानेवाली ‘वेलेंटाइन डे’ जैसी पाश्चात्य कुप्रथाओं के निर्मूलन हेतु वैश्विक स्तर पर ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस’ मनवाना शुरू किया, गौशालाओं की स्थापना द्वारा कत्लखाने ले जायी जा रही हजारों गायों को जीवनदान दिया, नारी जाति के सम्मान व उनमें पूज्यभाव के लिए सबको प्रोत्साहित किया, परिवार में सुख-शांति व परस्पर सद्भाव से जीना सिखाया, पारिवारिक झगड़ों से मुक्ति दिलायी, महिलाओं के मार्गदर्शन व सर्वांगीण विकास हेतु देशभर में ‘महिला उत्थान मंडलों’ की स्थापना की तथा नारी उत्थान हेतु कई अभियान चलाये ।
🚩आज जबकि पूज्य बापूजी पिछले 31 महीनों से जोधपुर कारागृह में हैं फिर भी बड़ी संख्या में माताएँ-बहनें उपरोक्त सेवाओं में जुड़ती जा रही हैं, असंख्य महिलाएँ उनकी रिहाई की माँग के लिए सड़कों पर उतर आयी हैं । हमारा अनुरोध है कि आप इस बात पर अवश्य विचार करें कि आरोप लगानेवाली दो महिलाएँ सच्ची हैं या हम करोड़ों बहनों का अनेकों वर्षों का अनुभव !
🚩‘महिला उत्थान मंडल’ आपसे निवेदन करता है कि विश्व में भारतीय संस्कृति की ध्वजा फहरानेवाले, आध्यात्मिक क्रांति के प्रणेता, निर्दोष, निष्कलंक पूज्य संत श्री आशारामजी बापू की समाज को अत्यंत आवश्यकता है ।
🚩बापूजी पर किये जा रहे अत्याचार से समाज को अपूर्णीय क्षति हो रही है अतः उन्हें शीघ्रातिशीघ्र रिहा किया जाय और बलात्कार निरोधक कानून में भी उचित संशोधन किया जाय जिससे कोई अन्य निर्दोष व्यक्ति इसकी चपेट में न आये । 
- महिला उत्थान मंडल
🐤आज दिनभर ट्वीटर पर भी बापूजी के समर्थक द्वारा हैशटैग #NariShaktiAgainstPOCSO
पर ट्रेंड करता रहा ।

🔥बिना सबूत भौंकने वाली मीडिया आज दिल्ली में लाखों महिलाओं की बापूजी के समर्थन में निकाली गई रैली पर चुप क्यों???
🚩Official Jago hindustani Visit
👇👇👇👇👇
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩
Post a Comment