Sunday, September 6, 2015

Delhi Vishal Rally - 5 September

🚩🚩जागो हिंदुस्तानी🚩🚩

⛳दिल्ली विशाल रैली, 5 सितम्बर
🚩भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्राची दीदी ने कहा कि संत आशारामजी बापू जैसे संतों को फंसाना छोडकर उन्हें उनके जनहित के कार्यों में सहयोग करने से ही वास्तविक विकास संभव है। उन्होने निर्दोष बापूजी के प्रति पक्षपाती कानूनी कार्यवाही बंद कर उनकी शीघ्र रिहाई की मांग की।
🚩विश्व हिन्दू परिषद के श्री अनिलजी, RSS के डा॰ सुमन, सनातन संस्था की सुश्री कृतिका जी, हिन्दू महासभा के कौशिकजी, श्री योग वेदान्त समिति के श्री दुर्गेश पाण्डेयजी, अखिल भारतीय नारी रक्षा मंच की अध्यक्षा श्रीमति रूपाली दुबे आदि ने भी संत श्रीआशाराम बापूजी के समर्थन में अपना वक्तव्य देते हुए उन पर लगे झूठे केस को खत्म कर उन्हे तुरंत जेल से मुक्त करने की अपील की। 
🚩राजघाट से जंतर – मंतर तक निर्दोष संतश्री आशारामजी बापू की रिहाई और महिला सुरक्षा कानूनों (Pocso) के दुरुपयोग पर रोक लगाने की मांग को लेकर एक विशाल रैली निकाली गयी जिसमें देश – विदेश से उमड़े बापूजी के हजारों समर्थकों, अनेक महिला NGOs , विभिन्न हिन्दू संगठनों के अलावा समाज के कई गणमान्य व्यक्तियों ने भी भाग लिया।
🚩गत 50 वर्षों से आध्यात्मिक क्रांति का शंखनाद करते हुए, देश ही नहीं अपितु विश्वमानव को स्वस्थ, सुखी व सम्मानित जीवन जीने का संदेश देने वाले संतश्री आशारामजी बापू के समर्थन में युवा सेवा संघ के बैनर तले विश्व हिन्दू परिषद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ,भारतीय जनता पार्टी, सनातन संस्था, हिन्दू महासभा,श्री योग वेदान्त सेवा समिति जैसी मुख्य सामाजिक,राजनैतिक व राष्ट्रवादी संस्थाओं ने भाग लिया। 
#Support4Bapuji
🚩सुबह 11 बजे राजघाट से आरंभ हुई इस रैली को जंतर –मंतर पहुँचने पर विभिन्न गणमान्य व्यक्तियों हरिद्वार के श्री घनश्यामानंदजी, साध्वी प्राची दीदी, मथुरा के श्री ओमकारानंदजी, डॉ॰ रोबर्ट सोलोमन (वर्तमान में डा॰ सुमन – जन्म स्थान - जकार्ता, मलेशिया), राकेश पहलवान जी, मुस्लिम समुदाय के हरी शंकर भुट्टो,आश्रम की प्रवक्ता नीलम दुबेजी, साध्वी तरुणा दीदी,रामा भाई आदि द्वारा संबोधित किया गया।
🚩प्रसिद्ध न्यायविद्ध सुब्रमनियन स्वामी के प्रतिनिधि ईशकरन भण्डारी जी ने अपने वक्तव्य में पूछा कि भारत के कानून में जिस स्थान पर घटना घटती है वहीं पर FIR दर्ज़ की जाती है मगर पूज्य बापूजी के केस में घटना है जोधपुर की औरF.I.R दर्ज़ हुई दिल्ली में, यह उन पर कौन सा कानून लागू किया गया है? आश्रम की प्रवक्ता नीलम दुबे ने कहा कि बापूजी द्वारा तो कई वर्ष पहले से ही बाल संस्कारकेन्द्रों व मातृ-पितृ पूजन दिवस का आरंभ इसी उद्देश्य से किया गया था कि बच्चे व युवा पीढ़ी सुसंस्कृत हो जिससे समाज में बलात्कार जैसी घटनाओं पर रोक लगे परंतु यहाँ तो पोक्सो जैसे कानून बनाकर निर्दोष हिन्दू संतों को ही निशाना बनाया जा रहा है। 
🚩सभा के पश्चात युवा सेवा संघ द्वारा माननीय राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री,गृहमंत्री, कानून मंत्री, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग आदि में ज्ञापन दिया गया।
🚩संत आशारामजी बापू के समर्थन में गूँजी दिल्ली
🌹प्रधान टाइम्स- न्यूज़
💥https://jagohindustani.wordpress.com
💥राष्ट्र संस्कृति प्रचार पेज को अवश्य लाइक करे ।
👇👇👇
https://m.facebook.com/profile.php?id=1423559047950682
🚩🚩जागो हिंदुस्तानी🚩🚩
Post a Comment