Tuesday, September 1, 2015

Black Day For India 31 August

🚩🚩जागो हिंदुस्तानी🚩🚩
🚩भारतीय इतिहास का काला दिन🚩
🚩भारत को आज़ाद हुए तो 68 साल बीत गये मगर आज़ादी किसे मिली? उस भूखंड को जिसके एक ओर तो अरब सागर हिलोरे ले रहा है और दूसरी तरफ है बंगाल की खाड़ी या फिर उन सीमाओं को जिन पर कभी चीन का खतरा मँडराता है तो कभी पाकिस्तान का।
🇮🇳जी हाँ, भारत तो आज़ाद हो गया मगर भारतीय नागरिक आज़ाद नहीं हुआ। अंग्रेज़ जाते-जाते ऐसे कानून हम भारतीयो पर थोप गये कि किसी भी निर्दोष पर झूठा केस करके उसे जेल में डाल दिया जाये।
💥इन कानूनों को और बढ़ावा दिया अंग्रेजों की प्रतिनिधि कॉंग्रेस सरकार ने।
🚩पराधीन होने से पहले भारत एक ऐसा राष्ट्र था कि जिसमें प्रवेश पाना हर विदेशी का सपना हुआ करता था। भारत की वैदिक संस्कृति, अध्यात्म का ज्ञान, आचार-विचार, मूल्य एवं परम्पराएँ सब बुलन्दियों पर थे परंतु धीरे-धीरे युग के प्रभाववश आपसी मतभेद और रंजीशों के कारण खंडित होते-होते भारत गुलाम  हो गया।

💥वर्षों की गुलामी ने भारतीय संस्कृति को विकृत तो कर दिया मगर उसे खत्म नहीं कर पाये। भारतीय संस्कृति की रक्षा सदैव से ही अवतार एवं संत-महात्मा करते आये हैं क्यूंकि केवल इसी संस्कृति में विश्व मानव के प्रति सौहार्द व प्रेम की भावना है तथा यही संस्कृति शांति और आपसी भाईचारे का संदेश देती आई है।
💥गुलाम होने पर भी इस संस्कृति की रक्षा के लिये कभी शिवाजी तो कभी गुरु गोबिन्द सिंह, कभी संत कबीर तो कभी स्वामी रामकृष्ण परमहंस, कभी विवेकानन्द तो कभी संत श्री आशारामजी बापू भारत की इस पवित्र भूमि पर अवतरित होते रहे हैं।
🚩विकृत होती भारतीय संस्कृति, समाज व सनातन धर्म की रक्षा के लिये जब पूज्य बापूजी ने बीड़ा उठाया और संत समाज बापूजी के साथ हो गया तो वह देश, धर्म और संस्कृति को तोड़ने वाली विधर्मी ताकतों की आँख की किरकिरी बन गये।
💥काँग्रेस सरकार, जोकि विधर्मी विदेशी ताकतों का प्रतिनिधित्व कर रही थी, की पुलिस ने बड़ी कूटनीति से पोक्सो एक्ट के तहत नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार का झूठा आरोप लगाकर निर्दोष बापूजी को 31 अगस्त 2013 को रात बारह बजे उनके इंदौर आश्रम से पूछताछ के बहाने साथ लिया और ले जाकर जोधपुर जेल में बंद कर दिया तब से आज तक वह जेल में ही हैं।
🚩ना तो कोई आरोप उन पर सिद्ध हो पाया और ना ही आज तक कोई सबूत मिल पाया मगर जेल से उनकी रिहाई संभव नहीं हो पा रही है। भारतीय इतिहास में इस दिन को सदैव एक काले दिन के रूप में याद किया जाएगा जबकि एक निर्दोष संत जिन्होने अपना पूरा जीवन देश व समाज के हित में लगा दिया मगर अभी तक कोई सरकार, कोई प्रशासन, कोई विभाग यहाँ तक कि न्याय तंत्र भी उनको न्याय दिला पाने में अपने को असमर्थ महसूस कर रहा है यही लगता है कि आज भी भारत पूर्ण रूप से विदेशी ताकतों के नियंत्रण में हैं। मगर सच को सामने आने से कोई नहीं रोक सकता आज नहीं तो कल पूज्य बापूजी को न्याय अवश्य मिलेगा और वह सकुशल जेल से बाहर आयेंगे। भगवान कृष्ण ने गीता में कहा है कि सनातन धर्म का रक्षक परमात्मा स्वयं है तो फिर “ फानूस बनकर जिसकी हिफाज़त हवा करे , वो शमा क्या बुझे जिसे रोशन खुदा करे।”(प्रधान टाइम्स)                                                     
हरिद्वार

💥राष्ट्र संस्कृति प्रचार पेज को अवश्य लाइक करे ।
👇👇👇
https://m.facebook.com/profile.php?id=1423559047950682
🚩🚩जागो हिंदुस्तानी🚩🚩




Some Of the Top Tweets









Post a Comment