Wednesday, April 18, 2018

जेल से हिन्दू संत आसाराम बापू ने न्यायालय को लिखा पत्र

🚩हिन्दू संत बापू आसारामजी बिना सबूत पिछले 4 साल 7 महीने से जोधपुर जेल में न्यायिक हिरासत में हैं, फास्ट ट्रैक का ये केस जिसकी सुनवाई साल भर में पूरी हो जानी चाहिए थी, वो केस साढ़े चार साल से हांफ रहा था, अब जाकर न्यायालय में इस केस की सुनवाई पूरी हो चुकी है और 25 अप्रैल 2018 को निर्णय आने वाला है ।
🚩न्यायालय द्वारा दिनांक 25.04.2018 को सुनाये जाने वाले निर्णय के कारण कानून व्यवस्था भंग होने की जो आशंका सरकार ने व्यक्त की है उस संदर्भ में हिन्दू संत बापू आसारामजी ने अपना निवेदन निम्न मुद्दों पर प्रस्तुत किया।

from-jail-hindu-saint-asaram-bapu-wrote-letter-to-the-court

🚩1. पिछले लगभग पौने 05 वर्ष से लगातार न्यायालय में पेशियां होती रही हैं। जिसमें मेरे किसी भक्त द्वारा कानून व्यवस्था भंग करने की स्थिति उत्पन्न नहीं की गयी है। पेशी के दौरान न्यायालय के जाने वाले मार्ग तथा न्यायालय परिसर में कभी कभी जो भीड़ होती थी, वह मात्र दर्शन के लिए होती थी। दर्शनार्थी भक्तों में से किसी भक्त द्वारा कानून व्यवस्था भंग नहीं की गई है। हमारे भक्तों द्वारा कानून व्यवस्था भंग करने की स्थिति न तो आज तक उत्पन्न की गई है तथा ना ही कभी भंग की जा सकती है।
🚩2. हमारे विरुद्ध षड्यंत्रपूर्वक एक आरोप को बहुत तूल दिया गया है। जबकि हमारे द्वारा पिछले 55 वर्षों से राष्ट्र व समाज को सही दिशा में ले जाने हेतु जो कार्य किये गए हैं, उन्हें दबा दिया गया है। इन कार्यों की प्रशंसा देश के कई प्रधानमंत्रियों, राष्ट्रपतियों एवं न्यायविदों व समाज के हर वर्ग द्वारा की गई है।
🚩3. हमारी संस्था द्वारा हजारों बाल संस्कार केंद्र चल रहे हैं। गौशालाओं में लगभग 9000 गायों का पालन पोषण किया जा रहा है। संस्था द्वारा बच्चों व युवाओं को संस्कारित किये जाने का कार्य मातृ-पितृ पूजन दिवस जैसे कार्यक्रमों द्वारा किया जा रहा है। समाज में गरीब व पिछड़े लोगों के उत्थान के लिए कई सेवा प्रकल्प चलाये जाते हैं। स्नेह, सद्भाव, भाई चारा एवं राष्ट्रीय एकता की महता, बेटी बचाओ, बेटी पढाओं का नारा व नारी उत्थान के कार्य चलाये जाते हैं।
🚩माननीय न्यायालय व पुलिस तथा प्रशासन के अधिकारी जहाँ भी उचित समझे हम वही फैसला सुनने को सहमत हैं। हमारे द्वारा हमेशा न्यायपालिका एवं पुलिस प्रशासन के प्रति सद्भाव रहा है व रहेगा। - सादर आसाराम बापू
🚩गौरतलब है कि बापू आसारामजी का समाज व देशहित के सेवाकार्यों में अतुलनीय योगदान रहा है जिसकी भूरी-भूरी प्रशंसा बड़ी-बड़ी सुप्रसिद्ध हस्तियों ने उनके आश्रम को प्रशस्ति पत्र देकर की है ।
🚩आइये अब बापू आसारामजी द्वारा हुए सेवाकार्यों पर भी नजर डालें ।
🚩ईसाई मिशनरियों को दिन के तारे दिखाकर, लाखों ईसाई बने हिंदुओं की घरवापसी करवाई और धर्मांतरण पर रोक लगाई ।
🚩शिकागो विश्व धर्मपरिषद में स्वामी विवेकानंदजी के 100 साल बाद जाकर हिन्दू संस्कृति का परचम लहराया ।
🚩कत्लखाने जाती हजारों गौ-माताओं को बचाकर, उनके लिए विशाल गौशालाओं का निर्माण करवाया ।
🚩अभी हाल ही में राजस्थान पशु पालन विभाग की ओर से उनकी निवाई गौशाला को राजस्थान की सर्वश्रेष्ठ गौशाला घोषित कर पुरस्कृत किया गया है।
https://twitter.com/AshramGaushala/status/956841906549415937
🚩विदेशी कंपनियों से हो रही शारीरिक व आर्थिक हानि से देश को बचाकर आयुर्वेद/होम्योपैथी का प्रचार-प्रसार कर एलोपैथिक दवाईयों के कुप्रभाव से होने वाले रोगों से समाज को सचेत किया ।
🚩पाकिस्तान, अमेरिका, चाईना आदि बहुत सारे देशों में जाकर सनातन हिंदू धर्म का ध्वज फहराया ।
🚩देश में बढ़ती वृद्धाश्रमों की संख्या व बुजुर्ग माता-पिता की वेदना से व्यथित हो युवावर्ग को वेलेंटाइन डे जैसी कुरीति से मोड़कर "मातृ-पितृ पूजन दिवस"
जैसी अनोखी पहल की जिसे आज विश्वस्तर पर मनाया जाने लगा है ।
🚩क्रिसमस डे के दिन क्रिसमस ट्री के बजाय हिन्दू संस्कृति में पूजनीय, माँ तुलसी की पूजा करके ये दिन हिन्दू संस्कृति के अनुसार मनाने को प्रेरित किया ।
🚩बिकाऊ मीडिया को रुपयों के पैकेज ना देकर जगह-जगह पर गरीब इलाकों में चलचिकित्सालय चलवाकर निःशुल्क दवाईयाँ उपलब्ध करवाई  ।
🚩पिछले 50 वर्षों से लगातार आदिवासियों के बीच मुफ्त भंडारा,मकान, कपड़े, अनाज व दक्षिणा बांटने के साथ-साथ उन्हें हिन्दू संस्कृति की महिमा बताई ।
🚩नशा मुक्ति अभियान के द्वारा लाखों लोगों को व्यसन-मुक्त करवाया, जिसका भारी नुकसान विदेशी कंपनियों को झेलना पड़ा ।
🚩महिलाओं के सर्वागीण विकास के लिए जगह-जगह पर महिला मंडलों द्वारा नारी सशक्तिकरण के लिए कई अभियान चलाये ।
🚩17000 से भी अधिक बाल संस्कार केंद्र और अनेकों गुरुकुलों द्वारा बच्चों के सर्वागीण विकास के साथ-साथ बचपन से ही उन्हें अपनी संस्कृति की ओर अभिमुख किया ।
https://www.youtube.com/user/BaalSanskar
🚩हाई रेंज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, संत श्री आशारामजी गुरुकुल, अहमदाबाद द्वारा बनाया गया विश्व में सबसे ऊंचा मानव पिरामिड ।
🚩भौतिकता और आध्यात्मिकता का समन्वय कर मानव में छुपी शक्तियों को जगाकर भारत को विश्वगुरु के पद पर आसीन करवाने में सदैव प्रयासरत रहने वाले बापू आसारामजी, जिनको "भारत रत्न" की उपाधि से अलंकृत करना चाहिए वो संत बिना किसी सबूत के सालों से जेल में हैं ।
🚩आज करोड़ों लोगों की नजरें सरकार व न्यायालय की ओर हैं कि वो कब देशहित, समाजहित, प्राणिमात्र के हित में सेवारत रहने वाले बापू आसारामजी के साथ इंसाफ करती हैं ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Post a Comment