Friday, January 29, 2016

The Editor of Newspapers and TVchannels should be Indians : Suresh Chwanke

🚩समाचार पत्रों और टी.वी. चैनलों के सम्पादक भारतीय होने चाहिए : सुरेश चव्हाणके
💥देश के समाचार पत्रों और टी.वी. चैनलों के सम्पादक कौन होने चाहिए, इस पर #सुदर्शन_चैनल के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके ने बताया कि हमारे देश में ये नियम है कि #समाचार पत्र और टी.वी. चैनल का सम्पादक भारतीय होना चाहिए।
💥लेकिन फिर भी बड़े-बड़े कुछ ऐसे चैनल या समाचार पत्र हैं जिनके सम्पादक व मालिक #विदेशी हैं। ऐसे में वे इस देश के संत और संस्कृति को कैसे समझ सकते हैं?
🚩संत #आसारामजी बापू जिन्होंने संस्कृति उत्थान के वो कार्य करके दिखाए जो अतुलनीय है ऐसे संत के लिए भी वे झूठी, पक्षपातपूर्ण व बिना सिर-पैर की खबरें दिन-रात दिखाते रहते है।
🚩इस देश में पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी संत पर कार्यवाही हुई और उनके लाखों-करोड़ों भक्त शांतिपूर्ण विरोध में सड़कों पर उतर आये थे।
🚩ये भगवान ने बापूजी के बहाने इस देश के तमाम भक्तों को एक मौका दिया है और इस मौके पर एक संगठित शक्ति में अगर हम सभी तब्दील होने में कामयाब रहे तो हमारे बापू के बाद और किसी संत के साथ ऐसा अत्याचार होगा ही नहीं।
🚩Official Jago hindustani Visit
👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩
Post a Comment