Saturday, December 12, 2015

विधर्मी हमें हमारी ही संस्कृति से विमुख करना चाहते है

🚩विधर्मी हमें हमारी ही संस्कृति से विमुख करना चाहते है...
🚩संत आशाराम बापूजी ने ईसाई धर्म-परिवर्तन को रोकने के कई ठोस कार्य किये है। उन निर्दोष संत को बेवजह जेल में रखना ये हमारी न्याय व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह है। 
🚩हिन्दू संस्कृति के लिए कार्यरत हिन्दू संतों को विधर्मी तोड़ना चाहते है। 
🚩संतो के प्रति नफरत पैदा कर हमे हमारी संस्कृति से विमुख करना चाहते है।
🚩इसीलिए पिछले 50 वर्षों से भारतीय संस्कृति उत्थान कार्यो में सेवारत बापूजी को भी षड़यंत्र के तहत फसाया गया है।
💥देखिये वीडियो👇
💻
🚩Official Jago hindustani Visit
👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Wordpress - https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot -  http://goo.gl/1L9tH1

🚩🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩

Post a Comment