Monday, August 24, 2015

Voice Against : India Today

🚩🚩जागो हिंदुस्तानी🚩🚩
भारत की जनता का कड़ा विरोध INDIA TODAY  MAGAZINE की अश्लीलता के प्रति  । जो समाज में चरित्रहीनता और ब्लात्कारिता बढ़ाने में सहयोग दे रहा है ।
आज सुबह से भारत में #अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday  TWITTER पर प्रथम स्थान पर जारी रहा ।

 भारत की जनता ने कहा जिस देश का खाता हैं उसी देश के सनातन धर्म को बदनाम करने वाले नमक हराम गद्दार INDIA TODAY के लाइसेंस रद्य किये जाने की तीव्र मांग की ।
 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का दुरूपयोग कर देश की यूवा पीढ़ी को अंधी खायी में ढकेलती INDIA TODAY पत्रिका ।
 पत्रिकाएं पूरे घर के लिए होती हैं। इंडिया टुडे में जो विशेषांक हैं, वे आम पाठको के लिए बेहद आपत्तिजनक साबित हो रहा है ।
 पत्रकारिता की आड़ में की उन्होंने हदें पार !
बेशर्मी का ऐसा नज़ारा, जनता हुई शर्मसार ।

 एक तरफ नाममात्र देता (?) है नैतिकता की नसीहत और दुसरी तरफ फैलाता है समाज मे अश्लीलता । INDIA TODAY का विरोध आज के समय की मांग है ।
 INDIA TODAY खुलासा करें की अपनी अश्लील पत्रिका से कितने अरब रु. मुनाफा कमा रहे हैं ?
 हिंदुत्व पर कीचड़ उछालने वाली
INDIA TODAY मैगज़ीन की सत्यता (?) समाज में अश्लीलता फैलाते वक़्त कहाँ जाती है ?

 प्रजातंत्र में पत्रकारों को यदि आजादी दी है तो उसकी सीमायें हो । ये बेशर्मी नही चलेगी। ये चौथा स्तम्भ अब नग्नता परोसने का साधन बन चुका है ! पत्रकारिता की धज्जियाँ उड़ा शर्मसार कर रही #अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday खुद को चौथा स्तम्भ बताते हैं ।
 अपने उज्ज्वल अतीत से कटकर अंग्रेजी पत्रकारिता का जूठन उठाना और खाना इनकी दिनचर्या बन गई है ।
 कौन देश सहन करेगा अपने संस्कृति को नष्ट करने वाली अश्लील पत्रकारिता ? वो भी देश के नाम से ।
 छोटे बच्चे-बच्चियों को अश्लीलता का पाठ पढ़ाकर उनका जीवन अंधकारमय बना रही है
 लगता है जैसे 'महिला आयोग' और 'कानून' दोनो #अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday  के आगे 'पूरी' तरह 'विवश' है ।
क्या कारण हो सकता है ?

 झूठ की स्याहि, फरेब की कलम, बिक चुका ईमान इनका, मिट चुकी शर्म !!! 
न कानून की चली, न महिला आयोग ने मुहीम चलाई! नारी रक्षा की सिर्फ देते है जो दुहाई !!!
#अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday के आगे सब 'नतमस्तक' है भाई !!!

भारतीय संस्कार से मेल न खाती यह #अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday Magazine अर्ध-नग्न तस्वीर दिखाकर स्त्री जाति का खुला अपमान क्यों करती है ?
 शर्म आती है इंडिया टूडे मैगज़ीन की पत्रकारिता पर । लानत है ऐसी मैगज़ीन पर और अरुण पूरी इसके एडिटर को ।
🚩TREND IN INDIA🚩
Some Of the Top Tweets  : #अश्लील_पत्रकारिता_IndiaToday















Post a Comment