Monday, June 25, 2018

हो गया खुलासा, भारतीय मीडिया विदेशी फंड से चलती है

25 June 2018

🚩भारत में इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में जो भी खबरें चलती हैं उसके पीछे कोई न कोई ऐजंडा होता है ये आप सभी ने देखा होगा।

🚩आपने अधिकतर ये भी देखा होगा कि किसी हिन्दू पर अत्याचार होता है तो मीडिया मौन रहती है, जबकि ईसाई या मुस्लिम पर अत्याचार होता है तो मीडिया उनके पक्ष में दिन रात खबरें चलाती है । इससे उल्ट देखिये कि जब हिन्दू साधु-संत पर आरोप लगता है तो मीडिया दिन-रात खबरें चलाती है लेकिन ईसाई पादरी या मौलवी पर आरोप लगता तो भी कोई खबर नही आती है ।

🚩आपके सामने हाल ही में सामने आया एक ताजा मामला रखते हैं...
Explained, Indian media moves from foreign funds


🚩अभी 18-19 जून को झारखंड खूंटी में 5 लड़कियों का अपहरण हुआ और बाद में उनके साथ बलात्कार किया गया । उसमें न कोई डिबेट चली और न कोई ब्रेकिंग न्यूज बनी । 

🚩 आखिर क्यों हिन्दू संतों पर लगे आरोप को मुख्य सुर्खियों में लाने वाली मीडिया ईसाई पादरियों पर सिद्ध हुए आरोपों पर चुप्पी साधे है ??

🚩क्योंकि इस घटना को अंजाम ईसाई पादरियों ने दिया था और यहाँ तक कि उन पांच लड़कियों को ईसाई फादर ने कहा था, घटना की जानकारी किसी को मत देना, नहीं तो आपके मां-बाप का मर्डर हो जायेगा ।

🚩आपको बता दें कि झारखण्ड खूंटी के कोचांग से अपहरण के बाद पांच युवतियों से गैंग रेप को लेकर पुलिस ने जिस पीड़ित महिला और नुक्कड़ नाटक के संचालक संजय कुमार शर्मा का बयान रिकॉर्ड किया है, बयान में कई चौंकानेवाले तथ्य सामने आये हैं । पुलिस द्वारा रिकॉर्ड बयान के अनुसार पीड़ित लड़की ने अपने बयान में दावा किया है कि कि चर्च के फादर अल्फाेंस ने षड्यंत्र  के तहत स्थानीय अपराधियों से मिल कर लड़कियों का अपहरण कर गाली-गलौज और रेप की घटना को अंजाम दिलवाया है। 

🚩पीड़िता ने बताया कि ईसाई फादर ने लड़कियों को समझाते हुए कहा था कि इसकी सूचना कहीं नहीं देना, नहीं तो तुम्हारे मां- बाप का मर्डर हो जायेगा 
। तुम्हारा परिवार खतरे में पड़ जायेगा ।

🚩आप पीड़िता के बयान से समझ गये होंगे कि ईसाई पादरियो ने मिलकर षडयंत्र रचा और लड़कियों का बलात्कार हुआ, उनको पीटा गया, प्राईवेट पार्ट पर भयंकर नुकसान पहुँचाया गया और 4 पादरी और 8 अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है फिर भी मीडिया चुप है क्योंकि मामला ईसाई पादरी का है ।

🚩षडयंत्र के तहत कोई महिला खड़ी हो जाती है और हिन्दू साधु-संत पर आरोप लगा देती है तो मीडिया दिन रात ब्रेकिंग न्यूज़ ओर डिबेट चलाती है लेकिन ईसाई धर्म का मामला आया तो मीडिया ने मौन धारण कर लिया ।

🚩इससे साफ पता चलता है कि भारत से हिन्दू धर्म को नष्ट करने के लिए हिन्दू धर्मगुरुओं बदनाम करने और धर्मान्तरण कराने वाले ईसाई पादरियों को बचाने के लिए विदेश से भारी फंडिग होती है ।

🚩ईसाई पादरियों के यह एक मामला दुष्कर्म का नही है ऐसे तो हजारों पादरियों पर मामले दर्ज हुए हैं, छोटे बच्चो और ननो के साथ भी दुष्कर्म करते पकड़े गए है और पादरियों को सजा भी हुई है लेकिन एक भी खबर मीडिया में नही आ रही है । 

🚩आपको बता दें कि सुदर्शन न्यूज चैनल के मालिक श्री सुरेश चव्हाणके ने बताया है कि भारत की मीडिया को अधिकतर फंडिग वेटिकन सिटी जो ईसाई धर्म का बड़ा स्थान है वहाँ से आता है इसलिए मीडिया हिन्दू धर्म को नष्ट करने के लिए केवल हिन्दू धर्म के साधु-संतों को बदनाम करती है और ईसाई पादरियों के दुष्कर्म को छुपाती है ।

🚩भारतवासी इन विदेशी फंडिग से चलने वाली मीडिया से सावधान रहें ।


🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk


🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt

🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Post a Comment