Sunday, October 1, 2017

तरुण तेजपाल पर रेप का आरोप तय: मीडिया की तरह कानून में भी भेदभाव क्यों..??

अक्टूबर 1, 2017

न्यूज मैगज़ीन तहलका के पूर्व संपादक #तरुण तेजपाल के खिलाफ गोवा अदालत ने #रेप के #आरोप #तय कर दिए हैं।

#तरुण तेजपाल पर अपनी एक #महिला सहकर्मी से #बलात्कार का आरोप है।
TARUN TEJPAL VS ASARAM BAPU

नवम्बर 2013 में रेप का आरोप लगने के बाद तरुण तेजपाल को गिरफ़्तार कर लिया गया था। तेजपाल को #छह #महीने में #जमानत #मिल गई थी।

तेजपाल पर आईपीसी की धारा 341 (गलत तरीके से नियंत्रण), धारा 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना), धारा 354-ए (किसी महिला के साथ यौन दुर्व्यवहार और शीलभंग की कोशिश), धारा 376 (बलात्कार) लगाई गई है।

आपको बता दें कि 2013 में तरुण तेजपाल पर बलात्कार का आरोप लगा था लेकिन 
2013 में हिन्दू संत आसारामजी बापू पर केवल #छेड़छाड़ी के #आरोप लगे थे ।

एक बात गौर करने वाली है कि तरुण तेजपाल के तो #CCTV में #साफ दिखाई दे रहा है कि #तेजपाल #दुष्कर्म कर रहा है, साक्ष्य में पूर्ण #सबूत है लेकिन दूसरी ओर हिन्दू संत आसारामजी बापू के खिलाफ तो लड़की का #मेडिकल हुआ उसमें #साफ लिखा है कि छेड़छाड़ी की ही नही,लड़की के शरीर पर चोट के या प्रतिकार के कोई #निशान #नहीं पायेगे,
 दूसरी बात की जिस समय लडक़ी ने छेड़छाड़ी का आरोप लगाया है उस समय लड़की से #कॉल #डिटल्स से पता चल रहा है कि उस समय तो वे अपने फ्रेंड से लंबी बात कर रही थी और बापू असारामजी एक दूसरे कार्यक्रम में व्यस्त थे तो इससे पता चलता है कि ये #मामला #बनावटी है ।

दूसरी बात की लड़की रहने वाली शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश ) की है, पढ़ती है छिंदवाड़ा (मध्यप्रदेश) में, छेड़छाड़ी की घटना बताती है जोधपुर (राजस्थान) की और वो भी घटना के पांच दिन के बाद ।
 दिल्ली में रात को 2:30 बजे एफआईआर करवाती है । जबकि आप अगर एफआईआर किसी दूसरे इलाके में करवाने जाओ तो एक पुलिस स्टेशन दूसरी पुलिस स्टेशन एफआईआर दर्ज नही करती है, लेकिन ये दूसरे शहर की घटना पुलिस दर्ज करती है तो कहीं न कहीं लगता है कि यह मामला उपजाऊ फर्जी है । 

अब आपका सवाल है कि तो फिर वो किस मामले में जेल में बंद है तो आपको बता दें कि 2012 में जो #पोक्सो एक्ट बनाई गई है जिसमें अगर #18 साल से #कम #उम्र की लड़की ने आपके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी कि मेरे को यह पुरूष घूरता है या स्पर्श किया है तो उस लड़की के बयान पर आपको जेल होगी और आपको सिद्ध करना होगा कि मैंने घूरा नही है या उससे स्पर्श नही किया है अगर आप यह सिद्ध नही कर पाये तो लड़की के बयान को सच मानकर आपको सजा होगी यही मामला बापू आसारामजी पर है लड़की के बयान को सच मानकर उनके खिलाफ केस चलाया जा रहा है जबकि मेडिकल में उनको क्लीन चिट मिलने के बाद भी केस चलाया जा रहा है ।

आपको बता दें कि लड़की बालिग है कि नाबालिग इसमे भी पूरा संदेह है क्योंकि बचपन में पढ़ाई करते वक्त अलग #जन्म #तारीख है, #एलआईसी पॉलिसी में अलग जन्म तारीख है, और स्कूल के #सर्टिफिकेट में #अलग #तारीख है तो अब लड़की नाबालिग है कि नही वो भी कोर्ट में सिद्ध करना बाकी है ।


भाजपा नेता डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि मैंने बापू आसारामजी को आरोप लगने से पहले ही बता दिया था कि आपने जो #आदिवासी क्षेत्रों में #धर्मपरिवर्तन पर #रोक लगाई है और लाखों #हिन्दुओं की #घरवापसी करवाई है इससे #वेटिकन सिटी नाराज है और #सोनिया गांधी से मिलकर आपको फंसायेंगे । और वही हुआ ईसाई मिशनरियों के इशारे पर #झूठा केस दर्ज हुआ और #विदेशी फंड से चलने वाली #मीडिया ने उनकी खूब #बदनामी की और जेल भिजवाया ।

गौरतलब है कि बीमारी अवस्था में आरोप सिद्ध हुए बिना 81 वर्षीय हिन्दू संत आसारामजी बापू चार साल से जेल में बंद हैं लेकिन उनको जमानत नही मिल पाई लेकिन तरुण तेजपाल के खिलाफ पूरे सबूत होते हुए भी उसको 6 महीने में ही जमानत मिल गई थी ।

आखिर क्यों मीडिया जैसे केवल हिन्दू संतों को ही बदनाम करती है और तरुण तेजपाल पर आरोप सिद्ध होने पर भी चुप है ?

आखिर क्यों कानून में भी यही है कि हिन्दू संत हो तो जमानत नही जबकि पत्रकार नेता आदि को तुरन्त जमानत ??

🚩अब मुख्य बात तो यही है कि किसी साधु-संत पर छोटा आरोप लगते ही #मीडिया खूब चिल्लाती है व अपनी ही बिरादरी के तरुण #तेजपाल पर #आरोप सिद्ध होने पर मौन होकर #चुपचाप बैठी है ।

हिन्दुस्तानी यही #षड्यंत्र को आप भी समझें औरों को भी समझाएं व हिन्दू #संस्कृति पर हो रहे षड़यंत्र का डटकर मुकाबला करें ।

Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk


🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt

🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Post a Comment